वॉट्सऐप और मैसेंजर पर अनजान युवती के आनेवाले कॉल या मैसेज हो जाएं सावधान, इस महिला गैंग का हो सकते हैं शिकार

वॉट्सऐप और मैसेंजर पर अनजान युवती के आनेवाले कॉल या मैसेज हो जाएं सावधान, इस महिला गैंग का हो सकते हैं शिकार

Desk : यदि आपके वॉट्सऐप और मैसेंजर पर किसी युवती की कॉल या मैसेज आए तो सावधान हो जाएं। आप एक महिला गैंग का शिकार हो सकते है जो आपको ब्लैकमेल कर सकती है। 

दरअसल इनदिनों वॉट्सेप और मैसेंजर पर हरियाणा के मेवात के महिला गैंग सक्रिय है। मेवात गिरोह की महिलाएं युवाओं को प्रेम जाल में फंसाकर ब्लैकमेल करके उनसे रुपये ऐंठती हैं। इस गैंग से जुड़े नोएडा में ही एसटीएफ के सामने दस से ज्यादा मामले सामने आए हैं।

एसटीएफ के अधिकारी ने बताया कि पिछले दिनों ऐसे कई मामले सामने आए, जिनमें कुछ महिलाओं ने सोशल मीडिया या मोबाइल नंबर पर संपर्क कर लोगों को हनीट्रैप में फंसाया। फिर उन्हें ब्लैकमेल करके लाखों रुपयों की ठगी की। जब एसटीएफ ने अपने स्तर पर जांच पड़ताल की तो खुलासा हुआ कि संबंधित मोबाइल बंर और सोशल मीडिया अकाउंट हरियाणा के मेवात से संचालित हो रहे हैं।

एसटीएफ अधिकारी का कहना है कि इनको ट्रेस करने के लिए सर्विलांस सहित अन्य तकनीक की मदद ली जा रही है। प्राथमिक जांच में सामने आया है कि ठगी करने वाले गैंग में 100 से ज्यादा महिलाएं और युवती शामिल हैं। इसके अलावा कुछ लोग भी गैंग का हिस्सा हैं। हालांकि, गैंग के पुरुष सदस्यों का काम महिलाओं के फर्जी सोशल मीडिया अकाउंट बनाना है। यह गैंग देश में हजारों लोगों को फंसाकर ठगी कर चुका है। इसका पर्दाफाश करने के लिए जांच टीम में विशेष तौर पर महिला अधिकारियों को शामिल किया गया है।  

एनसीआर में कई वीआईपी को भी फंसा चुकी हैं

इस गिरोह की महिलाएं अधिकतर अच्छी प्रोफाइल वाले लोगों को ही अपने जाल में फंसाती हैं ताकि उनसे मोटी रकम ठगी जा सके। इस गैंग ने एनसीआर सहित अन्य जगहों के कई वीआईपी लोगों को भी हनी ट्रैप में फंसाकर लाखों रुपये ठगी की है। बताया जा रहा है कि आरोपी जिन बैंक खातों में पैसे ट्रांसफर करवाती हैं, वह भी फर्जी हैं।

ऐसे फंसाती हैं शिकार

गैंग की महिलाएं फेसबुक पर आईडी बनाकर प्रोफाइल पर किसी अन्य युवती की फोटो लगाती हैं। मैसेंजर के माध्यम से युवाओं के पास मैसेज भेजती हैं या कॉल करती हैं। युवाओं से 15 से 20 दिन तक बात करके उनसे प्रेम करने का नाटक करती हैं। जब युवा उनके जाल में फंस जाते हैं तो आरोपी महिलाएं उनसे उनकी अश्लील फोटो और वीडियो मंगवाती हैं। युवती पर भरोसा करने के बाद युवा अपने अश्लील फोटो और वीडियो उन्हें भेज उन्हें भेज देते हैं। महिलाएं उन फोटो-वीडियो को युवाओं के परिजनों और रिश्तेदारों के पास भेजने और सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करती हैं।

 

 

Find Us on Facebook

Trending News