भागलपुर में 20 घंटे में ढाई सौ फीट कट गया रिंग बांध, दर्जनों गाँव में घुसा बाढ़ का पानी

भागलपुर में 20 घंटे में ढाई सौ फीट कट गया रिंग बांध, दर्जनों गाँव में घुसा बाढ़ का पानी

BHAGALPUR : बिहार के 26 जिलों में बाढ़ जैसे हालात हैं. इन इलाकों में कई गांवों में पानी प्रवेश कर गया है. भागलपुर जिले की बात करें तो यहां लगातार बाढ़ का कहर देखने को मिल रहा है. उफनती गंगा के कहर से आम लोग कराह रहे हैं. कई गांवों में हालत बेकाबू हो गए हैं. 

ताजा मामला नवगछिया के इस्माइलपुर से बिंद टोली को जोड़ने वाले रिंग बांध का है. सैकड़ों गांव को जोड़ने वाला यह रिंग बांध में पिछले 20 घंटे में ढाई सौ फीट से ज्यादा का कटाव हो चुका है. जिससे नवगछिया के दर्जनों गांव जलमग्न हो चुके हैं और हजारों की आबादी प्रभावित हो चुकी है. स्थानीय लोगों और जनप्रतिनिधियों ने रिंग बांध में हो रहे कटाव को साजिश करार देते हुए इसकी उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की है. वहीं स्थानीय लोग अभी तक जिला प्रशासन के द्वारा किसी भी प्रकार का राहत कार्य नहीं चलाए जाने को लेकर काफी आक्रोशित भी दिख रहे हैं. लोगों ने जिला प्रशासन से मदद की गुहार लगायी है. 

उधर रिंग बांध में लगातार हो रहे कटाव और इसके कारण दर्जनों गांव प्रभावित होने की जानकारी मिलते ही जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन अधिकारियों के साथ कटाव स्थल पहुंचे और कटाव का निरीक्षण करने के बाद बाढ़ पीड़ित गांव का जायजा लेने और बाढ़ पीड़ितों की समस्याओं को जानने वोट से डीमहा सहित कई गांव पहुंचे, इस दौरान जिलाधिकारी ने लोगों से ऊंचे स्थानों पर जाने की अपील भी की. इस दौरान डीएम सुब्रत कुमार सेन ने कहा कि कटाव की जानकारी मिलते ही तुरंत प्रभावित इलाकों में रिलीफ रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया गया, इस विपदा की घड़ी में जिला प्रशासन का मुख्य उद्देश्य लोगों की जानमाल की रक्षा करना और उन्हें सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाना है, जिलाधिकारी ने कहा कि इसके पहले भागलपुर जिले में एसडीआरएफ की एक टीम थी, लेकिन बाढ़ की विभीषिका को देखते हुए दूसरे जिलों से एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की 4 टीम को भागलपुर बुलाया गया है, जिसकी सहायता से रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है. साथ ही सुब्रत कुमार सेन ने कहा कि बड़ी नाव पर बाढ़ में फंसे मवेशियों को निकालने का भी कार्य किया जा रहा है. उन्होंने बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के लोगों को 2 से 3 दिनों में जीआर की राशि दिए जाने की बात भी कही. जिला अधिकारी ने बताया कि अभी जिले में 25 जगह पर कम्युनिटी किचन चलाया जा रहा है और बाढ़ से प्रभावित लोगों के लिए इस्माइलपुर सहित आसपास के जगहों पर भी आज से सामुदायिक रसोई की शुरुआत की जाएगी.

भागलपुर से अंजनी कुमार कश्यप की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News