अपने पार्टी हाईकमान पर सवाल उठा रहे हैं गोपालपुर विधायक, यह उनकी मानसिकता दर्शाती है

अपने पार्टी हाईकमान पर सवाल उठा रहे हैं गोपालपुर विधायक, यह उनकी मानसिकता दर्शाती है

भागलपुर। विधानसभा चुनाव हुए लगभग दो माह का समय पूरा हो चुका  है। लेकिन अब भी इसको लेकर चर्चा समाप्त नहीं हुई है। इनमें भागलपुर विधानसभा सीट पर मिली हार को लेकर एनडीए की दोनों प्रमुख पार्टियों जदयू-भाजपा के बीच तनाव बढ़ता नजर आ रहा है। इस विवाद का कारण गोपालपुर विधायक के उस बयान को बताया जा रहा है, जिसमें भागलपुर में भाजपा प्रत्याशी को मिली हार का कारण खुद को दिया जा रहा है।

दरअसल, पिछले दिनों एक कार्यक्रम में गोपालपुर विधायक नरेंद्र कुमार ने कहा था कि भागलपुर में भाजपा प्रत्याशी को इसलिए हार मिली रोहित पांडेय को इसलिए हार मिली थी क्योंकि उन्हें मुझे नमस्कार नहीं किया था और उनकी छवि दबंग की नहीं हैं। गोपालपुर विधायक ने कहा था कि पीएम मोदी के कार्यक्रम में उन्होंने मुझे नमस्कार नहीं किया, जिसके कारण मैंने उनका प्रचार नहीं किया, जो उनकी हार का कारण बनी।

गोपालपुर विधायक के इस बड़बोले बयान को लेकर भाजपा  के प्रत्याशी रहे  रोहित पांडे ने कहा कि गोपाल मंडल उनके बड़े भाई के समान हैं और वे सुर्खियों में बने रहने के लिए तरह तरह का हथकंडा अपनाते हैं, क्योंकि उनके द्वारा कभी भी कोई सकारात्मक कार्य नहीं किया जाता है। साथ ही रोहित पांडे ने कहा कि भाजपा के प्रत्याशी संगठन के बलबूते पर समाज में अच्छा कार्य कर ऊंचाइयों को छूते हैं, इस दौरान रोहित पांडे ने कहा कि नाथनगर सीट हारने के लिए जदयू विधायक के द्वारा पार्टी हाईकमान की नीतियों पर ही सवाल खड़ा कर रहे हैं, जो उनकी मानसिकता दर्शाती है।

Find Us on Facebook

Trending News