भागलपुर सृजन घोटाले मामले में यशवंत सिन्हा का नीतीश सरकार पर हमला, बोले- हाईकोर्ट दे दखल, सीबीआई पर नहीं है भरोसा

भागलपुर सृजन घोटाले मामले में यशवंत सिन्हा का नीतीश सरकार पर हमला, बोले- हाईकोर्ट दे दखल, सीबीआई पर नहीं है भरोसा

Bhagalpur: जिले के सर्किट हाउस में पीसी के दौरान पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने संबोधित करते हुए भागलपुर सृजन घोटाले मामले को लेकर नीतीश सरकार पर जमकर हमला बोला है. देश के पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने सृजन मामले में सीबीआई की जांच को पक्षपातपूर्ण करार दिया और कहा कि भागलपुर सृजन घोटाले की जांच हाईकोर्ट की निगरानी में होना चाहिए. उन्होंने कहा कि भागलपुर में सृजन घोटाला एक ऐसा घोटाला हुआ है जिसने पूरे देश को हिला दिया है. इसमें कई बड़े-बड़े मंत्री ,अधिकारी और सफेदपोश शामिल  हैं.

मौजूदा नीतीश सरकार ने सीबीआई जांच की सिफारिश कर खुद को बचाने का प्रयास किया है. यशवंत सिन्हा ने मुख्यमंत्री पर आरोप लगाते हुए कहा कि यह सबको पता है कि सीबीआई किस प्रकार से कार्य कर रही  है. यही नहीं उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार को भी निशाने पर लिया. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार सीबीआई को खिलौने की तरह इस्तेमाल कर रही है. सीबीआई के नाम पर केंद्र सरकार गैर एनडीए सरकार को स्थित करने का भी प्रयास कर रही है.


बता दें कि पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा फिलहाल यूनाइटेड डेमोक्रेटिक एलाइंस (यूडीए) के संयोजक हैं. उन्होंने कहा कि एनडीए की सरकार बिहार में 15 साल तक सत्ता में रहने के बावजूद विकास के नाम पर अकेले चुनाव लड़ने की हिमाकत नहीं करते. मुख्यमंत्री अपने 15 सालों का हिसाब देने के बजाय आरजेडी के 15 सालों की नाकामी गिना रही है. जबकि आरजेडी अपनी योजनाओं को जनमानस तक पहुंचने के बदले मौजूदा सरकार की खिंचाई कर रही है. यशवंत सिन्हा ने कहा कि यूडीए के नेतृत्व में भारी बहुमत से सरकार बनेगी, जो प्रदेश कि दशा और दिशा बदलने के लिए प्रतिबद्ध होगी. यशवंत सिन्हा यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा कि किसी भी योजनाओं को पूरा करने में जानबूझकर लेटलतीफी कि जाती है. इसके पश्चात ओवर स्टीमेट के जरिए जमकर भ्रष्टाचार होता है. पूर्व केंद्रीय मंत्री ने क्वाराईनटाइन सेंटर घोटाला, शौचालय घोटाला, बाढ़ के नाम पर घोटाला सहित कई विभागों में घोटाला होने की बात कही है. 

यशवंत सिन्हा ने बुनकरों के दयनीय स्थिति पर भी बेबाकी से अपनी बात रखी है. उन्होंने कहा कि सिल्क नगरी भागलपुर में ही सिल्क उद्योग अपने फूंटी किस्मत पर रो रही है. ये सब कुछ राजनीतिक उदासीनता का दुष्परिणाम है. यशवंत सिन्हा ने भागलपुर के बुनकरों को परिश्रमी बताते हुए कहा कि यहां के बुनकर ईमानदार और संघर्षशील है. तमाम परेशानी होने के बावजूद ये बुनकर भागलपुरी सिल्क को जीवित रख रहे है.

Find Us on Facebook

Trending News