भाई दूज आज, लंबी उम्र की कामना करते हुए बहनें करेंगी पूजा, जानिए शुभ मुहूर्त और त्योहार से जुड़ी मान्यताएं

भाई दूज आज, लंबी उम्र की कामना करते हुए बहनें करेंगी पूजा, जानिए शुभ मुहूर्त और त्योहार से जुड़ी मान्यताएं

N4N DESK: 5 दिवसीय दीपोत्सव आज भाई दूज के साथ समाप्त हो जाएगा। इसकी शुरूआत धनतेरस से होती है, फिर नरक चतुर्दशी, दीपावली, गोवर्धन पूजा और अंत में आता है भाई दूज। भाई-बहन के पवित्र रिश्‍ते का यह पर्व कार्तिक महीने के शुक्ल पक्ष की द्वितिया को मनाया जाता है। इस दिन बहनें विधिपूर्वक पूजन के बाद भाई को तिलक लगाती हैं और भगवान से उन्‍हें लंबी उम्र देने की प्रार्थना करती हैं। इस दिन शुभ मुहूर्त में तिलक लगाना बेहद सौभाग्यशाली होता है।

बहन के घर जाकर तिलक लगवाने की परंपरा

भाई दूज को हिंदू धर्म में बहुत महत्‍व दिया गया है। मान्‍यता है कि यदि भाई अपनी बहन के घर जाकर भाई दूज का तिलक लगवाए और उसके घर भोजन करे तो उसकी अकाल मौत होने का योग भी खत्‍म हो जाता है। इसीलिए इस दिन को यम द्वितीया भी कहते हैं। हालांकि इस दौरान याद रखना चाहिए कि बहनें अपने भाईयों को राहु काल के दौरान गलती से भी तिलक न लगाएं। ऐसा करना बहुत अशुभ होता है।


पूजन का शुभ मुहूर्त

वहीं आज भाई दूज के शुभ मुहूर्त की बात करें तो तिलक लगाने का शुभ समय दोपहर 01:10 बजे से लेकर 03:21 बजे तक यानी करीब 2 घंटे रहेगा। इन दो घंटो में पूजन और तिलक लगाना भाई-बहनों के लिए अच्छा रहेगा।

पर्व से जुड़ी पौराणिक कथा

मान्यताओं अनुसार इस दिन मृत्यु के देवता यमराज अपनी बहन यमुना के अनेकों बार बुलाने के बाद उनके घर गए थे। यमुना ने यमराज को भोजन कराया और तिलक कर उनके खुशहाल जीवन की प्रार्थना की। प्रसन्न होकर यमराज ने बहन यमुना से वर मांगने को कहा। यमुना ने कहा आप हर साल इस दिन मेरे घर आया करो और इस दिन जो बहन अपने भाई का तिलक करेगी उसे आपका भय नहीं रहेगा। यमराज ने यमुना को आशीष प्रदान किया। कहते हैं इसी दिन से भाई दूज पर्व की शुरुआत हुई।

Find Us on Facebook

Trending News