पटना में भारत वैगन कंपनी का मिलन समारोह, 22 साल बाद एक साथ मिले कंपनी के कर्मी

पटना में भारत वैगन कंपनी का मिलन समारोह, 22 साल बाद एक साथ मिले कंपनी के कर्मी

पटना. 22 साल बाद आज पटना में भारत वैगन कंपनी के अधिकारियों और कर्मचारियों ने मिलन समारोह मनाया। इसमें कंपनी के प्रबंध निदेशक, महाप्रबंधक, प्रबंधक, पदाधिकारी, पर्यवेक्षक और कामगार एक साथ मिले। इन लोगों ने अगले साल भी यह मिलन समारोह मनाने की बात कही है। इसके बाद सभी विदा हो गये।

इन लोगों ने बताया कि जॉर्ज फर्नांडिस जब मुजफ्फरपुर से सांसद के रूप में जीते थे, तो बिहार की दो कंपनी मोकामा की ब्रिटानिया इंजीनियरिंग एवं मुजफ्फरपुर की बटलर कंपनी को भारत सरकार के उपक्रम के रूप में अधिग्रहण कर भारत वैगन के रूप में एक मात्र कंपनी का मुख्यालय बिहार के पटना में स्थापित किया था। कंपनी लगातार मुनाफे में चल रही थी, 2000 के दशक में सरकार की नीतियों के कारण घाटे में चली गई। बाद में इसी कंपनी की कलकत्ता में स्थित सिस्टर इकाई बर्न स्टैंडर्ड एंड कंपनी जो लगातार घाटे में चल रही थी, उसे ममता बनर्जी ने रेल मंत्रालय में शामिल कर विशेष पैकेज दे कर बचा लिया पर बिहार की एक मात्र कंपनी भारत वैगन एंड इंजिनिर्यिग कम्पनी लिमिटेड को अपनी हाल पर मरने को छोड़ दिया गया।

आज देश के अन्य हिस्सों में जा चुके कंपनी के प्रबंध निदेशक, महाप्रबंधक, प्रबंधक, पदाधिकारी, पर्यवेक्षक और कामगार से लेकर स्टाफ तक 22 वर्षों बाद पटना के दीघा विधायक संजीव चौरसिया के आवास पर सपरिवार मिल मिलन का अनोखा मिशाल पेश किया है। अगले साल फिर मिलने के संकल्प के साथ लोग विदा हुए हैं।


Find Us on Facebook

Trending News