मेले में भेड़ की लड़ाई देखने के लिए उमड़ी भीड़, जिले में संक्रांति पर 50 साल से चली आ रही है अनोखी परंपरा

मेले में भेड़ की लड़ाई देखने के लिए उमड़ी भीड़, जिले में संक्रांति पर  50 साल से चली आ रही है अनोखी परंपरा

 कैमूर। जिले के भभुआ प्रखंड के अखलासपुर गांव में मकर संक्रांति के मेले पर भेड़ की लड़ाई होती है। जहां जिले के विभिन्न क्षेत्रों से हजारों लोग भेड़े की लड़ाई देखने के लिए आते हैं। और 50 वर्षों से भेड़े की लड़ाई होते आ रहा है। मेले में दो भेड़ों की लड़ाई की जाती है। जिसका भेड़ा विजयी होता है उस भेड़ को लोग अधिक दामों में खरीदारी करते हैं और भेड़ पालक को इनाम मिलता है।

लोगों का कहना है कि यह हम लोग का शौक है भेड़ों की लड़ाई कराना और देखना। यह कैमूर की अनोखी प्रक्रिया है जो कि एक साल तक लोगों को इंतजार रहता है भेड़े की लड़ाई को लेकर के और लोग भेड़ की लड़ाई देखने के लिए कैमूर जिले के विभिन्न प्रखंडों से भभुआ के अखलासपुर मकर संक्रांति के मेले में आते हैं।

पिछले कई सालों से मेले मे अपने अपने भेड़ को लड़ाई के लिए लेकर आ रहे जमुना ने बताया अब यह एक परंपरा बन चुकी है। मेले में लोगों को भेड़ों की लड़ाई देखने का इंतजार रहता है। हालांकि यह सिर्फ मनोरंजन के लिए किया जाता है। वहीं मेला घूमने पहुंचे एक व्यक्ति ने बताया कि कइ सालों से मेले का आयोजन किया जा रहा  है, जिसमें भेड़ों की लड़ाई बड़ा आकर्षण होती है। जिसे देखना बेहद रोचक होता है। 


Find Us on Facebook

Trending News