BIG BREAKING: जातीय जनगणना के मुद्दे पर सीएम नीतीश कुमार का आग्रह स्वीकार, इस दिन पीएम से होगी सीएम की मुलाकात

BIG BREAKING: जातीय जनगणना के मुद्दे पर सीएम नीतीश कुमार का आग्रह स्वीकार, इस दिन पीएम से होगी सीएम की मुलाकात

PATNA/NEW DELHI: जातीय जनगणना को लेकर एक तरफ जहां पूरे देश में राजनीति चरम पर है। वहीं दूसरी तरफ बिहार में सत्ताधारी एनडीए के बीच भी इस मुद्दे पर एक राय नहीं है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जहां जाति आधारित जनगणना के शुरू से पक्षधर रहे हैं। वहीं बीजेपी के मंत्रीगण इस मांग के पक्ष में नहीं है। उनका कहना है कि जातिगत जनगणना से बेहतर है कि गरीबों की जनगणना की जाए। 

यहां गौर करने वाली बात यह भी है कि बिहार में जातीय जनगणना की मांग पर पक्ष और विपक्ष, यानी कि जदयू और राजद के सुर एक समान हैं, जबकि भाजपा के सुर यहां दोनों से अलग है। इसी को लेकर पार्टी के नेताओं के बीच बयानबाजी चलती रहती है।

इसी बीच बड़ी खबर यह आ रही है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को जाति आधारित जनगणना कराने के लिए मांग पर बातचीत के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से समय दे दिया गया है। आपको बता दें, इसी महीने की 23 तारीख को, यानी कि, 23 अगस्त को बिहार का प्रतिनिधिमंडल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेगा। इस मुलाकात में जाति आधारित जनगणना के संदर्भ में उनसे मांग की जाएगी।

विदित हो कि बिहार विधानसभा के मानसून सत्र के दौरान विपक्ष ने जातिगत जनगणना की मांग मुख्यमंत्री से की थी। जिसे मुख्यमंत्री ने सहर्ष स्वीकार किया था और कहा था कि वह इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री से बात करेंगे। विधानसभा का सत्र खत्म हो गया और कई दिन बीत जाने के बाद भी मुख्यमंत्री को प्रधानमंत्री से मिलने का वक्त नहीं मिल पा रहा था। हालांकि अब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने खुद ट्वीट कर जानकारी दी है कि उन्हें प्रधानमंत्री से मिलने का वक्त मिल गया है। इसी महीने वह उनसे मिलकर जातिगत जनगणना के मुद्दे पर अपनी बात साफ करेंगे और अपनी तरफ से इसकी मांग रखेंगे।


Find Us on Facebook

Trending News