BIG BREAKING : बिहार में जातिगत जनगणना पर विपक्ष के साथ नीतीश कुमार, मीटिंग में हुआ यह बड़ा फैसला

BIG BREAKING :  बिहार में जातिगत जनगणना पर विपक्ष के साथ नीतीश कुमार, मीटिंग में हुआ यह बड़ा फैसला

PATNA : बिहार में जातिगत जनगणना को लेकर अब रास्ता साफ हो गया है। आज  सीएम नीतीश कुमार से मुलाकात के बाद तेजस्वी यादव ने साफ कर दिया है कि यहां जातिगत जनगणना कराई जाएगी। उन्होंने कहा कि सीएम नीतीश कुमार ने भी इस पर अपनी सहमति जाहिर की है। 

तेजस्वी यादव ने कहा आज हम लोगों ने अपनी बात सीएम नीतीश के सामने रखा है. मीटिंग के बाद फैसला ये निकलकर आया कि इस मुद्दे पर 3-4 सर्वदलीय बैठक होगी. सर्वदलीय बैठक में इस बात पर चर्चा होगी कि राज्य सरकार अपने खर्चे पर जातीय जनगणना हो. एक बात तो आज तय हो गया कि बिहार में जातीय जनगणना होगा. कैसे होगा ये सर्वदलीय बैठक में तय होगा। तेजस्वी यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ हम लोग सर्वदलीय बैठक कर प्रधानमंत्री से मिले और हमने कहा कि अगर प्रधानमंत्री यानी केंद्र सरकार कराने में सक्षम नहीं है तो राज्य सरकार करावे।

तेजस्वी ने कहा कि मुलाकात के दौरान सीएम साहब ने हमलोगों को भरोसा दिया है कि इस संबंध में जल्द ही सर्वदलीय बैठक बुलाई जाएगी। माना जा रहा है कि अगले तीन से चार दिन में यह बैठक बुलाई जा सकती है। तेजस्वी ने कहा कि बिहार में जातिगत जनगणना कराने की बात सबसे पहले लालू जी ने उठाई थी। जिसका सभी विपक्षी दलों ने साथ दिया। इसी दबाव का नतीजा है कि आज सरकार हमारी बात मानने को तैयार हो गई है। तेजस्वी ने इसके लिए सभी सहयोगी दलों को धन्यवाद दिया। उन्होने कहा कि  एक बात तो है कि अब जातीय जनगणना बिहार में होने जा रही है

तेजस्वी ने कहा कि नीति आयोग की जो रिपोर्ट आई है उसके अनुसार तकरीबन 52% तक लोग गरीब हैं।  धर्म के आधार पर पहले जातिगत जनगणना होती थी लेकिन अब जाति के आधार पर जनगणना होगी।  जब जातिगत जनगणना होगा तो इससे यह स्वरूप तैयार हो जाएगा कि जो लोग गरीब हैं उनको विकास के पायदान पर पहुंचाने के लिए उनका अलग से बजट बन सकता है और विकास से कोई वंचित ना रह पाए कोई गरीबी रेखा के नीचे ना रहे हैं उन सब को ऊपर उठाने के लिए जाति जनगणना बेहद जरूरी है।

इससे पहले जातिगत जनगणना के मुद्दे पर तमाम विपक्षी पार्टियां एकजुट नजर आई और सीएम से मुलाकात करने पहुंची। इस टीम में तेजस्वी के साथ अजीत शर्मा, महबूब आलम व तेजस्वी यादव सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

बता दें कि केंद्र के इनकार के बाद विपक्ष ने इस बात की मांग की थी राज्य सरकार अपने खर्च पर सूबे में जातिगत जनगणना करवाए। जिस पर अब सहमति बनती हुई नजर आ रही है। 


Find Us on Facebook

Trending News