बड़ा खुलासाः बिहार के DGP नहीं बनना चाहते वरिष्ठ IPS अफसर...रेस से अपने आप को किया अलग, सरकार को बता दी अपनी इच्छा, आखिर वजह क्या है...

बड़ा खुलासाः बिहार के DGP नहीं बनना चाहते वरिष्ठ IPS अफसर...रेस से अपने आप को किया अलग, सरकार को बता दी अपनी इच्छा, आखिर वजह क्या है...

PATNA: बिहार में अगले डीजीपी कौन होंगे? पुलिस महकमे में यह चर्चा काफी दिनों से जारी है। डीजीपी एस.के.सिंघल अगले महीने रिटायर हो जाएंगे। नए डीजीपी को लेकर राज्य सरकार ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है. सरकार ने  संघ लोक सेवा आयोग को बिहार कैडर के डीजीपी रैंक के अफसरों के नाम का पैनल भेज दिया है। यूपीएससी लिस्ट से तीन नामों को छांटकर वापस करेगी. इसके बाद राज्य सरकार उनमें एक को नये डीजीपी के रूप में नियुक्ति की अधिसूचना जारी कर देगी। इसी बीच एक वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी ने अपना नाम डीजीपी की लिस्ट में शामिल नहीं करने का आग्रह किया है. बजाप्ता उन्होंने सरकार को पत्र भेज अपना नाम डीजीपी के पैनल में रखने से मना किया है. आखिर डीजीपी की लिस्ट से अपने आप को दूर रखने के पीछे वजह क्या है, इसका खुलासा उन्होंने नहीं किया है.कहा जा रहा है कि वर्तमान व्यवस्था में वे अपने आप को उपर्युक्त नहीं पा रहे, लिहाजा उन्होंने इस पद के लिए संभावित लिस्ट से अपने आप को अलग कर लिया.

अरविंद पांडेय नहीं बनना चाहते डीजीपी 

बिहार के वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी व डीजी अरविंद पांडेय ने सरकार को पत्र लिखा है. पुलिस महानिदेशक सह नागरिक सुरक्षा आयुक्त अरविंद पांडेय ने 25 अगस्त 2022 को गृह विभाग को लिखा था। पत्र में डीजी अरविंद पांडेय ने कहा है कि मैं पुलिस महानिदेशक (पुलिस प्रमुख) बिहार के पद पर नियुक्ति के लिए 'सूचीकरण' में अपनी अनिच्छा (चाहत नहीं) व्यक्त करता हूं. साथ ही नियुक्ति से अब तक धारित पदों, निष्पादित कार्यों की प्रकृति, शैक्षणिक एवं पेशेवर उपलब्धि संबंधित सूचना संलग्न कर रहा हूं .दरअसल गृह विभाग ने 1 फरवरी 2022 और 22 फरवरी 2022 को पत्र भेजकर राय मांगा था। गृह विभाग के पत्र के आलोक में डीजी सह नागरिक सुरक्षा आयुक्त अरविंद पांडेय ने डीजीपी बनने के लिए तैयार हो रही लिस्ट में अपने शामिल होने से इंकार कर दिया। लिस्ट से अपने आप को अलग रखने के पीछे की वजह का पचा नहीं चल सका है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, ये वर्तमान व्यवस्था से खुश नहीं हैं. लिहाजा अपने आप को डीजीजी की लिस्ट से अलग रखने का आग्रह किया है। 


डीजी की वरिष्ठता में ये अफसर हैं 

वर्तमान डीजीपी एस.के. सिंघल को छोड़ दें तो डीजी रैंक में कुल 11 आईपीएस अफसर हैं.डीजी रैंक में शीलवर्धन सिंह सबसे वरिष्ठ हैं. वर्तमान में केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर हैं .ये 31 अगस्त 2023 में रिटायर होंगे . ए.रंजन भी केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर हैं. यह 1987 बैच के आईपीएस अफसर हैं.28 फरवरी 2023 को सेवानिवृत्त होंगे. तीसरे नंबर पर अरविंद पांडेय हैं यह 1988 बैच के अफसर हैं,30 जून 2023 को सेवानिवृत्त होंगे .

मनमोहन सिंह भी 1988 बैच के आईपीएस अफसर है.यह केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर हैं, 31 जुलाई 2023 को सेवानिवृत्त होंगे. आलोक राज 1989 बैच के अफसर हैं.  31 दिसंबर 2025 को सेवानिवृत्त होंगे.यह वर्तमान में एडीजी ट्रेनिंग बिहार के पद पर पदस्थापित हैं . राजविंदर सिंह भट्टी केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर हैं, 30 सितंबर 2025 को सेवानिवृत्त होंगे . शोभा ओहोटकर 190 बैच की अफसर हैं और डीजे होमगार्ड हैं. 30 जून 2026 को सेवानिवृत्त होंगी. विनय कुमार 1991 बैच के अफसर हैं और वर्तमान में पुलिस भवन निर्माण निगम के डीजी हैं.  इनकी सेवानिवृत्ति 30 सितंबर 2025 को होगी. प्रवीण वशिष्ठ 1991 बैच के हैं और केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर हैं.इनकी सेवानिवृत्ति 31 मई 2026 को होगी. प्रीता वर्मा 1991 बैच की आईपीएस अफसर है. इनकी सेवानिवृत्ति 30 जून 2028 और अमरेंद्र कुमार अंबेडकर 1992 बैच के आईपीएस अफसर हैं. ये 31 जुलाई 2025 को सेवानिवृत होंगे। 


Find Us on Facebook

Trending News