BIG NEWS: आइएएस ऑफिसर सुधीर कुमार का सीएम पर आरोप, मुख्यमंत्री की न नैतिकता बची और न हीं अंतरात्मा, बिहार में है तानाशाही

BIG NEWS: आइएएस ऑफिसर सुधीर कुमार का सीएम पर आरोप, मुख्यमंत्री की न नैतिकता बची और न हीं अंतरात्मा, बिहार में है तानाशाही

पटना: सीएम के खिलाफ एससी/एसटी थाने में एफआइआर करने के लिए गये बिहार के वरिष्ठ आईएएस सुधीर कुमार ने सीएम नीतीश कुमार के ऊपर कई तरह के आरोप लगाया है। गर्दनीबाग एससी/एसटी थाने में शुक्रवार को सीएम खिलाफ एफआइआर दर्ज करने गये सुधीर कुमार थाने में करीब छह घंटे बैठे रहे लेकिन उनका एफआइआर नहीं लिया गया। इसके बाद एक प्रेस वार्ता में उन्होंने यह बातें कही।

सुधीर कुमार ने कहा कि बिहार में तानाशाही चल रही है। मुख्य सचिव रैंक का अधिकारी साक्ष्य के साथ थाने में एफआइआर दर्ज करने जाता है मगर उसका एफआइआर दर्ज नहीं होता है। नीतीश कुमार सुशासन की दुहाई देते हैं जबकि सीएम और उनके अधिकारियों पर आरोप लगता है और थाने में उनके खिलाफ एफआइआर नहीं लिया जाता है। पटना हाइकोर्ट टिप्पणी करता है। बिहार सरकार को माइंड लेस गवर्मेंट कहता है। सुधीर कुमार के आरोप पर सीएम को अपना बयान सामने देना चाहिए। मेरे आरोप में क्या सच्चाई है, जनता के सामने आना चाहिए। सीएम क्यों छुपे हुए हैं? मुझे क्यों थाने में पांच-छह घंटे बैठाया गया?

सुधीर कुमार ने आरोप लगाया कि सूबे के आइएएस, बीजेपी के नेता सीएम के अधिकारियों पर आरोप लगा रहे हैं। इस मामले में साफ दिख रहा है कि दाल में कुछ काला है। सीएम पर एफआइआर क्यों नहीं हो रहा है? इस सरकार में ईमानदार लोगों को डराने धमकाने का काम हो रहा है। भ्रष्ट लोगों को जिम्मेवारी दी गयी है। उन्होंने यह भी कहा कि नीतीश कुमार अपने पद का दुरुपयोग कर रहे हैं। इन पर पहले से ही हत्या का आरोप है। सीएम के पास न तो नैतिकता बची है और न ही अंतरात्मा। उन्होंने यह भी कहा कि यह सीएम पद की गरिमा का सवाल है। सीएम अपना स्पष्टीकरण दें। सीएम अगर इस घटना में ईमानदार होंगे तो जनता के सामने अपनी बात रखेंगे।

पटना से रंजन की रिपोर्ट



Find Us on Facebook

Trending News