बड़ी खबर : नीतीश कुमार मुख्यमंत्री पद से नहीं देंगे इस्तीफा, राज्यपाल से मिलकर बस करेंगे यह खेला

बड़ी खबर : नीतीश कुमार मुख्यमंत्री पद से नहीं देंगे इस्तीफा, राज्यपाल से मिलकर बस करेंगे यह खेला

पटना. नीतीश कुमार के बिहार के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने की अटकलबाजियो को जदयू की ओर से बड़ा विराम दिया जा रहा है. सूत्रों का कहना है कि नीतीश कुमार भले मंगलवार दोपहर 2 बजे से 4 बजे के बीच राज्यपाल से मिलेंगे लेकिन उनकी यह मुलाकात सीएम पद से इस्तीफा के लिए नहीं है. नीतीश कुमार जिस तरह से सीएम हैं उसी तरह से सीएम बने रहेंगे. 

दरअसल, नीतीश कुमार एनडीए से अलग होंगे. लेकिन वे बिहार में सरकार चलाते रहेंगे. इसके लिए उन्होंने इस बार नई रणनीति बनाई है. सूत्रों के अनुसार नीतीश कुमार की राज्यपाल से मुलाकात का मुख्य कारण बिहार सरकार में शामिल भाजपा कोटे के मंत्रियों को बर्खास्त करना है. सीएम नीतीश सिर्फ भाजपा कोटे के मंत्रियों को बर्खास्त करेंगे और खुद मुख्यमंत्री बने रहेंगे. 

ऐसे में भाजपा की जगह सीएम नीतीश अपने मंत्रिमंडल में राजद, कांग्रेस और अन्य महागठबंधन के घटक दलों के नेताओं को शामिल करेंगे. नीतीश की ओर से राज्यपाल को महागठबंधन की ओर से मिला समर्थन पत्र सौपा जाएगा. राज्यपाल को बताया जाएगा कि नीतीश सरकार को अब भाजपा के नहीं बल्कि महागठबंधन के घटक दल के सदस्य समर्थन कर रहे हैं. इसके पहले कहा गया कि भाजपा के सभी 16 मंत्री राज्यपाल को इस्तीफा सौपेंगे. हालांकि इसे लेकर फिर भाजपा हाईकमान ने निर्देश दिया कि इस्तीफा नहीं दिया जाए. इससे भाजपा की छवि को नुकसान होगा, इसके बदले सीएम नीतीश को बर्खास्त करने दिया जाए. 


इस तरह नीतीश कुमार बिना मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिये ही वे सीएम पद पर रह जाएंगे. साथ ही एनडीए के बदले वे नए साथियों के साथ सरकार में जमे रहेंगे. राज्यपाल से मिलने के दौरान राजद के तेजस्वी यादव भी उनके साथ रह सकते हैं. साथ ही कांग्रेस के नेता भी उनके साथ रहेंगे. इन सबके बीच नीतीश कुमार की यह चाल भाजपा को सबक सिखाने के रूप में होगी. 


Find Us on Facebook

Trending News