बड़ी खबर : गया में पंचायत ने सुनाया मौत की सजा, ग्रामीणों ने फैसले पर अमल करते हुए बुजुर्ग का काट डाला गला

बड़ी खबर : गया में पंचायत ने सुनाया मौत की सजा,  ग्रामीणों ने फैसले पर अमल करते हुए बुजुर्ग का काट डाला गला

GAYA : जिले से एक बड़ी घटना सामने आई है। जहां पंचायत ने एक बुजुर्ग के खिलाफ तालिबानी फैसला सुनाते हुए मौत की सजा दी। इतना ही नहीं ग्रामीणों ने फौरन उस फैसले पर अमल करते हुए पहले तो  आरोपी की जमकर पिटाई की फिर उसे गला रेत कर मार डाला। पंचायत के इस फैसले और ग्रामीणों की इस करतूत पर पूरा इलाका हैरान है। 

घटना के संबंध में बताया जा रहा है कि जिले के  मानपुर   प्रखंड के बुनियादगंज थाने के भेड़िया कला गांव निवासी बसंती मांझी  के पति की मौत   आज से 6 माह पूर्व  हो गई थी।  बसंती मांझी   अपने पति के मौत का कारण छठ्ठू मांझी को   बताने लगी।  बसंती मांझी का कहना था कि छठ्ठू मांझी ने तंत्र मंत्र का चक्कर चला कर उसके पति को  बीमार किया फिर मार डाला। 

बसंती मांझी के इस आरोप के बाद  गांव वालों ने पंचायत बुलाया और पंचायत में यह निर्णय लिया गया  कि तंत्र मंत्र कर बसंती देवी के पति को मारने वाले छट्ठू मांझी  को भी मौत के बदले मौत की सजा दी जाय।

पंचायत के इस फैसले के बाद शत्रु के बेटा और बहू दोनों गांव छोड़कर भाग गए अकेला छठ उग्र ग्रामीणों का शिकार हो गया। पंचायत की सजा सुनाने के बाद बसंती देवी के दो बेटों और उसके भाई ने छट्ठू मांझी का गला पसली से रेत दिया। 

पंचायत की तालिबानी फैसले और बुजुर्ग की हत्या की खबर पूरे इलाके में फैल गई। वहीं सूचना मिलते ही पुलिस आनन-फानन में घटनास्थल पर पहुंची। पुलिस ने बसंती देवी के घर पर छापेमारी कर  मांझी का शव बरामद कर लिया। वहीं मौके पर उपस्थित  बसंती देवी और उसके दो बेटों राजकुमार मांझी और राहुल मांझी को गिरफ्तार कर मामले की जांच में जुटी है। 

Find Us on Facebook

Trending News