बिहार विधानसभा चुनाव खत्म : अब राजनीतिक पंडित बताएंगे... एक बार फिर नीतीश कुमार या तेजस्वी सरकार...

बिहार विधानसभा चुनाव खत्म : अब राजनीतिक पंडित बताएंगे... एक बार फिर नीतीश कुमार या तेजस्वी सरकार...

पटना : आरोप-प्रत्यारोप ,भाग दौड़, चुनावी सभा और जनता के बीच अपने आपको उनका प्रिय दिखाने का कार्यक्रम अब खत्म हो गया। यूं कहें कि बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में मतदाताओं ने सभी प्रत्याशियों की किस्मत ईवीएम में कैद कर दी है। बिहार विधानसभा चुनाव सभी नेता एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप करते हुए अपने आप को जनता के हमदर्द बताने की कोशिश में लगे हुए थे दिनभर चुनावी सभा के बाद बैठक और फिर वोटिंग के आखिरी भी लगाए जा रहे थे लेकिन अब 5 साल के लिए यह खत्म हो गया है किसके किस्मत में जनता का आशीर्वाद मिला है यह सभी ईवीएम में कैद हो गया है।अब इसका फैसला 10 तारीख को तय होगा किसके हाथ लगा बिहार । क्या इस बार फिर से बिहार में मोदी और नीतीश की जोड़ी कमाल करेगी या फिर तेजस्वी की तेज रफ्तार को जनता का आशीर्वाद मिलेगा । या फिर पूरी चुनाव में हनुमान बने जनता के दिल में उतरने की कोशिश में लगे चिराग पासवान सरकार बनाने में आम भूमिका अदा करेंगे इस सभी अनुमानों का फैसला 10 तारीख को हो जाएगा।क्या बिहार में फिर से नीतीशे कुमार होंगे या तेजस्वी सरकार बनेगी।

बताते चलें कि बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के चुनाव खत्म हो गए हैं। अब मतगणना तक राजनीति के पंडित कहे जाने वाले लोग अपना अपना विश्लेषण सुनाएंगे और बिहार में आंकड़े के अनुसार सरकार बनाएंगे इस बात का पूर्णता फैसला मतगणना के बाद ही होगा कि बिहार में किसकी सरकार बन रही है। चुनाव खत्म होने के बाद सभी देश की विभिन्न एजेंसी और न्यूज़ चैनल अपने-अपने पूर्वानुमान लेकर सामने आएंगे और एग्जिट पोल आपके सामने रखेंगे। देश के तमाम न्यूज़ चैनल और न्यूज़ एजेंसी के पूर्वानुमान ओं का एक औसत निकाला जाएगा इसके आधार पर एक पूर्वानुमान होगा जिसमें यह बताया जाएगा कि बिहार में कौन सी पार्टी सरकार बनाने में कामयाब होती है।

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 ने मोदी नीतीश की जोड़ी कामयाब होगी या तेजस्वी यादव की तेज रफ्तार कामयाब होंगे । कैसे रहेंगे बिहार चुनाव के नतीजे सभी न्यूज़ चैनलों द्वारा दिखाए जाएंगे उसके बाद राजनीतिक पंडित के द्वारा तर्क वितर्क भी होगा कौन से चैनल द्वारा दिखाया गया या आंकड़ा कितना सही है। हालांकि हम यह साफ कर दें कि एग्जिट पोल पूर्वानुमानों पर आधारित होते हैं।इसके नतीजे पूरी तरह से सटीक होंगे ऐसा कतई नहीं है। कई बार एग्जिट पोल सही भी होते हैं तो कई बार गलत भी साबित होते रहे हैं। एग्जिट पोल को केवल एक अनुमान के रूप में समझें और वास्तविक नतीजों के लिए 10 नवंबर यानी मंगलवार तक का इंतजार करें. इस दिन  हम सबसे पहले, सबसे सटीक चुनाव नतीजों की जानकारी लेकर आपके सामने आएंगे|



Find Us on Facebook

Trending News