बिहार के इन तीन जिलों ने क्राइम में किया टॉप , आखिरकार डीजीपी ने खुद कर लिया स्वीकार

बिहार के इन तीन जिलों ने  क्राइम में  किया टॉप , आखिरकार डीजीपी ने खुद कर लिया स्वीकार

PATNA : बिहार के तीन जिले क्राइम के मामले में अव्वल हैं। खुद डीजीपी ने स्वीकार कर लिया है कि सूबे के तीन जिलों में सबसे अधिक अपराध की घटनाएं होती हैं।

वे जिले हैं हैं राजधानी पटना,मुजफ्फरपुर और वैशाली। खुद डीजीपी गुप्तेश्वर पाण्डेय ने माना है कि इन तीन जिलों में सबसे अधिक आपराधिक घटनाएं प्रतिवेदित होती है। उन्होंने कहा कि मुजफ्फरपुर जोन के मुजफ्फरपुर और हाजीपुर में आपराधिक घटनाओं पर रोक के लिए आईजी मुजफ्फरपुर को ठोस रणनीति पर काम करने का निर्देश दिया गया है। वहीं राजधानी पटना को लेकर भी पुलिस मुख्यालय सचेत है और काम करने का निर्देश दिया गया है।

दरअसल सीएम नीतीश कुमार ने आज बिहार की कानून-व्यवस्था पर हाई लेवल बैठक की थी।बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अधिकारियों से सीधे कहा  है कि बस अब बहुत हुआ हमें रिजल्ट चाहिए। सीएम नीतीश ने डीजीपी समेत मौजूद पुलिस अधिकारियों से कहा है कि आखिर बिहार में कानून-व्यवस्था की स्थिति क्यों खराब होते जा रही है।आखिर कहां कमी है जिस वजह से क्राईम की रफ्तार बढ़ते जा रही है।मुख्यमंत्री के सख्त तेवर देख पुलिस अधिकारियों के होश उड़ गए थे।

सीएम नीतीश ने कानून-व्यवस्था फेल होने में सबसे बड़ी वजह पुलिस की सही पेट्रोलिंग नहीं होने का वजह बताया है।उन्होंने अधिकारियों  से कहा कि जब सारा संसाधन दिया गया तो फिर सघन पेट्रोलिंग क्यों नहीं होती।सीएम नीतीश ने आईजी से लेकर डीआईजी को एसी रूम से निकल महीने में 10 दिन फिल्ड में कैंप करने का आदेश दिया है।

 सीएम नीतीश की बैठक के बाद प्रेस कांफ्रेंस में डीजीपी और गृह सचिव ने बताया कि सीएम नीतीश ने कानून-व्यवस्था को लेकर कई निर्देश दिए हैं।उस पर आज से काम शुरू हो गयी है।

Find Us on Facebook

Trending News