बिहार बंद का वीआईपी करेगा नैतिक समर्थन, मुकेश सहनी और राजद के साथ ही जीतनराम मांझी भी देंगे सैद्धांतिक समर्थन

बिहार बंद का वीआईपी करेगा नैतिक समर्थन, मुकेश सहनी और राजद के साथ ही जीतनराम मांझी भी देंगे सैद्धांतिक समर्थन

पटना. विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के प्रमुख और बिहार के पूर्व मंत्री मुकेश सहनी ने शुक्रवार को कहा कि सेना में भर्ती के लिए नई योजना अग्निपथ को लेकर युवाओं में उभरा आक्रोश यह साबित करता है कि देश की सेवा का सपना लिए हजारों युवा आज सड़क पर उतर गए हैं। लगातार विरोध के बावजूद सरकार ने अब तक प्रदर्शनकारियों से बातचीत नहीं की।  उन्होंने कहा कि सरकार के अड़ियल रवैया के विरोध में शनिवार को वीआईपी बिहार बंद का नैतिक समर्थन करेगी। 

उन्होंने कहा कि तीन दिनों से आंदोलन चल रहा, लेकिन  सरकार महज बहाली की उम्र सीमा में एक - दो साल बढ़ोतरी का आश्वासन दे रही है। आंदोलनकारियों की मांग यह योजना वापस लेने की है। उन्होंने कहा कि शनिवार को कई संगठन/ दल ने एकदिवसीय बिहार बंद का आह्वान किया है । उन्होंने सभी प्रदर्शनकारियों से आग्रह किया है कि वे शांतिपूर्ण ढंग से विरोध करें और सरकारी /गैर सरकारी संपत्तियों को नुकसान न पहुंचाएं।

उन्होंने सरकार से मांग की वे प्रदर्शनकारियों से बात करे और उनकी समस्याओं को समझने की कोशिश करे। वीआईपी नेता ने कहा कि एक ओर देश में बेरोजगारी बढ़ी है, लेकिन सरकार जो भी बहाली निकाल रही है उसमे विवाद ही हो जा रहा है।

इस बीच, शनिवार को होने वाले बिहार बंद को राजद ने भी समर्थन देने की घोषणा की है. राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने 18 जून के बंद को समर्थन देने की अपील की है. वहीं, हम के प्रमुख जीतनराम मांझी ने भी बिहार बंद को सैद्धांतिक समर्थन देने की घोषणा की है. मांझी ने कहा कि अग्निपथ स्कीम” राष्ट्रहित एवं युवा हित के लिए खतरनाक कदम है जिसे अविलंब वापिस लेना होगा। 

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से से आग्रह करते हुए कहा कि अविलंब अग्निपथ स्कीम को खत्म कर पुरानी सेना भर्ती योजना को शुरू करने की घोषणा करें। कई अन्य राजनितिक दलों ने भी अग्निपथ के विरोध में 18 जून के बिहार बंद को समर्थन देने की घोषणा की है. 


Find Us on Facebook

Trending News