महाभियान में सर्वाधिक टीकाकरण कर बिहार बना देश में नंबर वनः मंगल पांडेय

महाभियान में सर्वाधिक टीकाकरण कर बिहार बना देश में नंबर वनः मंगल पांडेय

PATNA :  स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा की कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर चलाये गये महाभियान में रात्रि 8ः 15 बजे तक सूबे में 20 लाख टीकाकरण का आकंड़ा पार कर गया। सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में हुए टीकाकरण की सूचना देर रात तक प्राप्त होगी। यह महाभियान और टीकाकरण प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कारण संभव हो पाया, जिनके कारण राज्यों को मुफ्त में टीका उपलब्ध हुआ और राज्य टीकाकरण में सफल हुआ। मंत्री पांडेय ने प्रधानमंत्री का राज्यवासियों की ओर से आभार जताते हुए कहा कि स्वास्थ्य विभाग छह माह में छह करोड़ टीकाकरण का लक्ष्य अवश्य पूरा करेगा। 31 अगस्त को कोरोना टीकाकरण का राज्य में अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा। इसके पूर्व 5 अगस्त को एक दिन में सर्वाधिक 9 लाख 26 हजार, 8 मार्च अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर 2 लाख 2 हजार 137 और 12 मार्च को 1 लाख 35 हजार 575 लोगों का टीकाकरण हुआ। 

पांडेय ने बताया कि ‘छह करोड़ छह माह’ अभियान की शुरूआत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा इस वर्ष 21 जून को की गई थी। इस अभियान के तहत  पिछले 2 महीने में 2 करोड़ से भी अधिक खुराकें दी जा चुकी हैं। इस अभियान में लगे स्वास्थ्यकर्मी और फ्रंट लाइन वर्कर्स की प्रशंसा करते हुए कहा कि इस महाभियान में 13 हजार से अधिक टीकाकर्मी, 15 हजार डाटा इंट्री ऑपरेटर के अलावे अन्य स्वास्थ्यकर्मियों को लगाया गया था। सबसे ज्यादा पूर्वी चंपारण में डेढ़ लाख लोगों ने टीके लगवाये। इस दौरान शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में उत्सवी माहौल बना रहा। कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए लोग सुबह से ही टीका लगवाने के लिए अपने-अपने वैक्सीनेशन केंद्र पर डटे रहे। लोगों की जागरूकता का ही परिणाम रहा कि स्वास्थ्य विभाग अपने लक्ष्य के करीब पहुंचा और एक दिन में सर्वाधिक टीकाकरण कर बिहार ने देश में पहला स्थान बनाया। 

पांडेय ने बताया कि देश में अब तक जहां करीब 65 करोड़ लोगों का टीकाकरण किया गया, वहीं 31 अगस्त तक राज्य में करीब पौने चार करोड़ से ज्यादा लोगों को टीकाकृत किया गया है। लोगों की सक्रियता का ही नतीजा है कि सूबे में कोरोना का संक्रमण दर अब नाम मात्र रह गया है। पिछले 24 घंटे के दौरान पूरे राज्य में दर्जन भर से भी कम मरीज मिले, वहीं रिकवरी रेट भी करीब 98.65 फीसदी पर आ गया है। एक्टिव मरीजों की संख्या एक सौ के करीब आ गया है। पांडेय ने बताया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देशानुसार स्वास्थ्य विभाग ने जहां वैक्सीनेशन में तेजी लायी है, वहीं संभावित तीसरी लहर को लेकर भी अलर्ट है और इससे निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग हर स्तर पर और हर दिन काम कर रहा है। स्वास्थ्य सेवाओं को पहले से और बेहतर करने के साथ-साथ संसाधनों और मानव बलों की बढ़ोतरी की जा रही है। इसके तहत राज्य में टीकाकरण की गति को पूर्व से ही तेज कर दिया गया है। साथ ही साथ स्वास्थ्य विभाग द्वारा शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के दियारा इलाकों में टीकाकरण के लिए बेहतर माहौल बनाने पर भी विशेष जोर दिया जा रहा है। इसके तहत राज्य के सभी जिलों में कोरोना टीका एक्सप्रेस एवं कोरोना टीका नाव का संचालन हो रहा है, ताकि छह माह में छह करोड़ टीका के लक्ष्य को पूरा किया जा सके।

पटना से रंजन की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News