बिहार भूंकप पर तेजस्वी यादव का बड़ा संदेश, कहा- बरतें सावधानी, सुरक्षित स्थानों पर जाएं...

बिहार भूंकप पर तेजस्वी यादव का बड़ा संदेश, कहा- बरतें सावधानी, सुरक्षित स्थानों पर जाएं...

पटना : बिहार में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं. जानकारी के मुताबिक बिहार में 9 बजे 23 मिनट पर भूकंप के झटके महसूस किए गए.  भूकंप के झटके कुछ सेकेंड महसूस किए गए. पटना की बात करें, लोगों को जैसे झटके महसूस हुए, तो लोग अपने-अपने घरों से निकलने लगे. भूकंप को लेकर तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर लिखा है कि पटना में भूकंप के झटके महसूस किए गए, मैं हर किसी की सुरक्षा की कामना करता हूं. और सभी से निवेदन करता हूं कि वे सावधानी बरतें, सुरक्षा सावधानी बरतें और जरूरत पड़ने पर सुरक्षित स्थानों पर जाएं .

बता दें कि भूकंप की तीव्रता 4.5 थी. दक्षित बिहार के साथ-साथ उत्तर बिहार के कई जिलों में भूकंप के झटके महसूस किए गए. भूकंप का केंद्र पटना बताया जा रहा है. जानकारी के मुताबिक भूकंप का केंद्र जमीन से 5 किलोमिटर नीचे था. 

धरती पर भूकंप आता क्यों है?

हम सभी कुछ ना कुछ गड़बड़ करते रहते हैं. कभी-कभी धरती भी गड़बड़ कर देती है, बल्कि रोज कर देती है. पूरे ग्लोब पर रोज-रोज कहीं ना कहीं कुछ खटपट होता रहता है. छोटे-छोटे वाले तो कुछ नहीं कर पाते. पर जब कहीं कुछ बड़ा हो जाता है, तो पता चलता है कि भूकंप आ गया है.

अगर धरती को छेद के देखें तो ये तीन लेयर में होती है. सबसे ऊपरी लेयर को क्रस्ट कहते हैं. ये क्रस्ट पूरी धरती को घेरे रहता है. मतलब हमारे पांव के नीचे की जमीन और नदी-समंदर के नीचे की भी जमीन. ये बहुत ही मोटी परत होती है. जो हम देख पाते हैं, इससे बहुत गहरी.

तो हमारी जमीन के नीचे बहुत सारी प्लेट्स होती हैं. आड़ी-तिरछी. इधर-उधर. एकदम फंसी हुई. एक हिली तो दूसरी भी हिलेगी. एक खिंची तो कई और खिंच जाएंगी. और जब ये ज्यादा हो जाता है, तो ऊपर की जमीन खड़खड़ा जाती है. भूकंप आ जाता है. करोड़ों बरसों पहले जब कई प्लेट्स ऐसे ही टकराई थीं, तब इसी टक्कर से कई सारे पहाड़ बने थे. मतलब हल्के में नहीं लेना है इस टक्कर को. हिमालय भी ऐसे ही बना था. कहीं-कहीं भूकंप के अलावा ज्वालामुखी भी फट जाते हैं. इसमें क्या होता है कि धरती के अन्दर का लावा बाहर आ जाता है. गरम-गरम.

Find Us on Facebook

Trending News