बिहार भाजपा ने राजद से पूछे 10 सवाल, सोशल मीडिया पर छाया #JawabDoRJD

बिहार भाजपा ने राजद से पूछे 10 सवाल, सोशल मीडिया पर छाया #JawabDoRJD

PATNA : लोकसभा चुनावों को लेकर एक नए तेवर में नजर आ रही बिहार भाजपा की सोशल मीडिया टीम के निशाने पर गुरुवार को आरजेडी और उनके नेतागण रहे| राजद नेताओं पर भ्रामक तथ्यों और झूठे प्रचार के सहारे जनता को गुमराह करने का आरोप लगाते हुए बिहार भाजपा ने अपने अधिकारिक फेसबुक और ट्विटर हैंडल से राजद पर करारा प्रहार करते हुए राजद से 10 सवाल पूछे हैं। इस दौरान हैशटैग #JawabDoRJD ट्रेंड कर रहा है। इसी बीच जनता ने भी भाजपा के इस अभियान को अपना समर्थन देते हुए हैशटैग #JawabDoRJD के साथ आरजेडी पर जमकर चुटकी ली और सैंकड़ो की संख्या में ट्वीट कर आरजेडी नेताओं से सवाल पूछे।

बिहार भाजपा ने सवाल पूछा कि शुरुआती दिनों में लालू प्रसाद जी यह दावा करते नहीं थकते थे कि उनका जन्म अत्यंत गरीब परिवार में हुआ है। वे अपने माता-पिता और चपरासी भाई की गरीबी की नजीर देते थकते नहीं थे। सत्ता में आने के चंद वर्षों बाद ही वे अकूत संपत्ति के मालिक कैसे बन गये?

जिस राजद के सर्वेसर्वा ने पार्षद, विधायक, सांसद, मंत्री बनाने के एवज में अनेकानेक नेताओं से जमीन-मकान आदि तथाकथित 'दान' में लिखवा लिये, अब उनके परिजनों से बिहार यह उम्मीद कैसे करे कि वे टिकटों की बिक्री नहीं कर रहे?

क्या यह सही नहीं है कि लालू प्रसाद जी ने अपने रिश्तेदारों को भी संपत्ति हासिल करने का जरिया बनाया? अपने ससुराल, बेटी के ससुराल, भाई के रिश्तेदारों के नाम पर पहले अपने कालेधन से जमीन-मकान खरीदा और बाद में उसे पत्नी, बेटों व बेटियों के नाम गिफ्ट करवा दिया?

भाजपा ने पूछा कि मात्र 29 वर्ष की उम्र में तेजस्वी यादव 50 से ज्यादा महंगी संपत्ति के मालिक कैसे बने, जबकि उनके पास न तो कोई पुश्तैनी संपत्ति थी, न कोई शैक्षणिक योग्यता, यहां तक कि क्रिकेट में भी विफल रहे थे? 

भाजपा ने अगला सवाल किया कि आखिर वह कौन सा जादुई तरीका है, जिसके जरिये कभी साइकिल पर चलनेवाले गरीब लालू जी की पत्नी, पुत्र और पुत्री कुल मिलाकर दर्जनों महंगे भूखंड, फ्लैट्स और लग्जरी कारों के मालिक बन गये?

परिवारवाद का आरोप लगाते हुए भाजपा ने सवाल किया कि बिहार में जब भी मुख्यमंत्री या उपमुख्यमंत्री बनाने का मौका मिला, राजद  ने एक परिवार के सदस्यों को ही आगे बढ़ाया। क्या राजद में एक परिवार के सदस्यों से ज्यादा काबिल लोग नहीं हैं? या यहां सिर्फ परिवार की चापलूसी करनेवालों का जमावड़ा है?

इस मसले पर बोलते हुए भाजपा के सोशल मीडिया प्रभारी नरेंद्र नाथ ओझा ने कहा “ आगामी लोकसभा चुनाव के लिए हमारी नीति भले ही सकारात्मक प्रचार की है, लेकिन विरोधियों द्वारा लगातार फैलाए जा रहे झूठ और भ्रम के बीच कभी-कभी उन्हें आइना दिखाना भी जरूरी हो जाता है| वंशवाद और भ्रष्टाचार के लिए देश भर में कुख्यात हो चुकी राजद के नेताओं द्वारा मोदी सरकार पर आरोप लगाना पूरी तरह हास्यास्पद है| राजद के नेताओं को हमारी चुनौती है 

Find Us on Facebook

Trending News