शिक्षक हैं परेशान, चुनाव करायें या मानें बोर्ड का फरमान, राष्ट्रीय शैक्षिक परिषद के सचिव ने बोर्ड अध्यक्ष से दर्ज कराई आपत्ति

शिक्षक हैं परेशान, चुनाव करायें या मानें बोर्ड का फरमान,  राष्ट्रीय शैक्षिक परिषद के सचिव ने बोर्ड अध्यक्ष से दर्ज कराई आपत्ति

PATNA: बिहार के शिक्षक बिहार बोर्ड के फरमान से परेशान हो गए हैं. वे चुनाव करायें या बोर्ड का फरमान मानें यह समझ में नहीं आ रहा। राष्ट्रीय शैक्षिक व शिक्षा परिषद् के सचिव व पूर्व सदस्य शैक्षिक परिषद्, माध्यमिक शिक्षक संघ शैलेंद्र शर्मा "शेलू जी" ने इस पर आपत्ति जताई है। उन्होंने बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष से इंटरमीडिएट एवं मैट्रिक परीक्षा- 2021 में शामिल होने वाले छात्र-छात्राओं के डमी एडमिट कार्ड डाउन लोड करने व उसमें ऑनलाइन त्रुटि सुधार करने की तिथि के विस्तार की मांग की है। साथ ही यह भी मांग की है कि मैट्रिक व इंटर की सेंट अप परीक्षा एक तिथि में कराए जाने से कोरोना काल में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो सकेगा। 


उन्होंने कहा कि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के परीक्षा नियंत्रक ने सभी विद्यालयों एवं महाविद्यालयों को निर्देश है कि इंटरमीडिएट एवं मैट्रिक वार्षिक परीक्षा-2021 में शामिल होने वाले छात्र/छात्राओं का डमी एडमिट कार्ड बोर्ड के पोर्टल से 5 नवम्बर तक डाउनलोड कर मिलान कर उसमें त्रुटियों का ऑनलाइन  संशोधन कर लें। 

ज्ञात हो कि बिहार विधानसभा चुनाव-2020 का द्वितीय एवं तृतीय चरण क्रमशः 3 एवं 7 नवंबर को होना तय है । ऐसे में सभी महाविद्यालय एवं विद्यालयों के प्रधान, शिक्षक, एवं शिक्षकेत्तर कर्मियों का चुनाव कार्य में ड्यूटी लगाई गई है । चुनाव जैसे महत्वपूर्ण कार्य में सभी कर्मियों की व्यस्तता 8 नवंबर तक है। इसके अतिरिक्त विधान सभा एवं विधान परिषद चुनाव-2020 का मतगणना कार्य क्रमशः 10 एवं 12 नवंबर को होना सुनिश्चित है। जिसमें भी महाविद्यालय एवं विद्यालयों के कर्मियों की सहभागिता एवं व्यस्तता के साथ साथ सभी शिक्षण संस्थान के भवन भी व्यस्त रहेगें । 


उन्होंने कहा कि है कि बोर्ड द्वारा एक ही तिथि से मैट्रिक एवं इंटर की सेंट अप परीक्षा शुरू करने के आदेश से भी विद्यालय प्रधान और शिक्षक पशोपेश में है। एक तरफ तो बोर्ड प्रशासन द्वारा सभी परीक्षाओं व अन्य कार्यो में सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन करने का निर्देश देता है मगर विद्यालयों में जगह कमी के कारण एक ही तिथि में दोनों परीक्षाएं लेने से न तो आदेश का पालन हो सकेगा और न ही सोशल डिस्टेसिंग का। उनका कहना है कि इस बीच दीपावली और छठ जैसे महत्वपूर्ण पर्व भी है।           

उन्होंने समिति के अध्यक्ष को पत्र लिखकर अनुरोध किया है कि चुनाव जैसे महत्वपूर्ण कार्य में सभी शिक्षण संस्थानों के प्रधान सहित शिक्षकों व शिक्षकेतर कर्मियों की व्यस्तता तथा संस्थानों के भवनों का चुनाव कार्य हेतु अधिग्रहण को ध्यान में रखते हुए इंटरमीडिएट एवं मैट्रिक वार्षिक परीक्षा- 2021 में शामिल होने वाले छात्र/छात्राओं के डमी एडमिट कार्ड के डाउनलोड तथा उसके ऑनलाइन त्रुटि संशोधन हेतु एवं कोरोना काल में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हेतु सेट अप परीक्षा की तिथि छात्र हित में निर्धारित तिथि से विस्तारित करें 

Find Us on Facebook

Trending News