बिहार मंत्रिमंडल बदलाव की तारीख तय ... कांग्रेस अध्यक्ष अखिलेश का दावा- सीएम नीतीश ने दिया है बड़ा भरोसा, कुशवाहा की सियासी चाल पर किया सबकुछ साफ

बिहार मंत्रिमंडल बदलाव की तारीख तय ... कांग्रेस अध्यक्ष अखिलेश का दावा- सीएम नीतीश ने दिया है बड़ा भरोसा, कुशवाहा की सियासी चाल पर किया सबकुछ साफ

पटना. उपेंद्र कुशवाहा और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बीच चल रहे सियासी बयानबाजी पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश सिंह ने बुधवार को कहा कि उपेंद्र कुशवाहा कहीं नहीं जाएंगे. उन्हें भरोसा है कि वे यहीं रहेंगे. उन्होंने आरसीपी सिंह के बयान कि आरजेडी जेडीयू में सब कुछ खत्म हो चुका पर कड़ी प्रतिक्रिया दी. अखिलेश ने कहा कि आरसीपी सिंह जो बोल रहे हैं उनकी नौकरी खत्म हो चुकी है इसलिए यह बयान दे रहे है. 

कांग्रेस प्रदेश कार्यालय में भारत जोड़ो से जुडी बिहार में गतिविधियों को मीडिया को बताते हुए अखिलेश सिंह ने बुधवार को कहा कि बिहार में भारत की यात्रा 350 किलोमीटर यात्रा दूरी कर चुकी है. दो और चरणों में कांग्रेस की यह बिहार में भारत और यात्रा पूरी हो जाएगी. बिहार में इस यात्रा को लोगों का काफी समर्थन मिल रहा है. उन्होंने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा समापन पर राहुल गांधी गया में सम्मिलित होंगे. अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के राष्ट्रीय प्रवक्ता करनजीत सिंह प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि हाथ से हाथ जोड़ो यात्रा 26 राज्यो में जनता के बीच कांग्रेस जाएगी. 

उन्होंने कहा कि इस यात्रा का उद्देश्य बेरोजगारी ओर महगाई से देश को मुक्ति दिलाना है. देश की मौजूदा सरकार किसान और युवाओ से धोखा कर रही है. भारत के सीमा पर चीन का दखल हो रहा है और प्रधानमंत्री कह रहे हैं सब ठीक है. तमाम विषयों को लेकर हाथ से हाथ जोड़ो यात्रा होगी. 

वहीं बिहार में मंत्रिमंडल विस्तार के सवाल पर अखिलेश ने दावा किया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समाधान यात्रा के बाद मंत्रिमंडल का विस्तार करेंगे. 2 सीटें और कांग्रेस को मिलेगी यह मुझे मुख्यमंत्री ने बताया है. वहीं बक्सर के चौसा में किसानों पर पुलिस के द्वारा लाठीचार्ज पर अखिलेश सिंह ने कहा कि कांग्रेस ने इस मामले पर 3 सदस्य टीम जांच के लिए बनाई थी. टीम की रिपोर्ट आने के बाद मुख्यमंत्री से मिलकर किसानों को मुआवजा देने की बात करेंगे. 

बीजेपी द्वारा मदरसों पर सवाल उठाने पर अखिलेश सिंह ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि मदरसों पर ही क्यों सवाल उठे. आरएसएस के सरस्वती शिक्षा मंदिर पर क्यों नहीं सवाल हो. शिक्षा को धर्म से जोड़ने का काम सही नहीं है. 


Find Us on Facebook

Trending News