BIHAR CRIME: कई कांडो में फरार हार्डकोर नक्सली राजेंद्र पासवान चढ़ा एसएसबी के हत्थे, कई लोगों से लेवी मांगकर फैलाई थी दहशत

BIHAR CRIME: कई कांडो में फरार हार्डकोर नक्सली राजेंद्र पासवान चढ़ा एसएसबी के हत्थे, कई लोगों से लेवी मांगकर फैलाई थी दहशत

GAYA: इन दिनों फरार नक्सली द्वारा कई वारदातों को अंजाम दिया जा रहा है। कई बार यह नक्सली किसी शहर के बड़े व्यापारियों से रंगदारी या लेवी मांगते हैं और नहीं देने पर व्यापारी की हत्या कर फरार हो जाते हैं। इसी तरह अन्य वारदातों के संबंध में भी पुलिस को इनकी तलाश रहती है। इसी क्रम में गया में संयुक्त कार्रवाई में एक फरार नक्सली को गिरफ्तार किया गया है।

गुप्त सूचना के आधार पर 29वीं वाहिनी सशस्त्र सीमा बल गया मुख्यालय के कार्यवाहक कमांडेंट लोकेश कुमार सिंह एवं कैमूर एएसपी (अभियान) नितिन कुमार के निर्देश पर इस कार्रवाई को अंजाम दिया गया। बी कंपनी काला पहाड़ के कंपनी कमांडर, एसएसबी जवान, अधौरा अपर थानाध्यक्ष अमोद कुमार और बंदेया थाना के सहायक उप निरीक्षक प्रभु शंकर राम के साथ संयुक्त अभियान चलाकर कई घटनाओं को अंजाम देने वाले हार्डकोर नक्सली राजेंद्र पासवान उर्फ पारस जी उर्फ उदय जी को बंदेया थाना के सिमरहुआ गांव से धर दबोचा गया। एसएसबी के कार्यवाहक कमांडेंट ने बताया कि पकड़े गए नक्सली अधौरा थाना कांड संख्या 25/2007 मे वांटेड था। एएसपी अभियान कैमूर ने बताया कि उक्त  नक्सली पर आईडी लगाने और लेवी मांगने का आरोप है। 

एएसपी अभियान कैमूर ने बताया कि वह जिले में भय बना कर धमकी देना और लेवी वसूलने का कार्य किया करता था। उसने पूछताछ के दौरान कई कांडों में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। बताया है कि एसएसबी के जवानों ने नक्सली राजेंद्र पासवान उर्फ पारस जी उर्फ उदय जी को बंदेया थाना में एएसपी अभियान नितिन कुमार और अपर थानाध्यक्ष अधौरा अमोद कुमार को सुपुर्द कर दिया है।


Find Us on Facebook

Trending News