बिहार चुनाव के बाद बीजेपी का मिशन-5, जेपी नड्डा और अमित शाह ने कार्यकर्ताओं को कह दिया- तैयार रहिए, बड़ा उलटफेर होगा

बिहार चुनाव के बाद बीजेपी का मिशन-5, जेपी नड्डा और अमित शाह ने कार्यकर्ताओं को कह दिया- तैयार रहिए, बड़ा उलटफेर होगा

पटना : बिहार में विधानसभा का चुनाव खत्म हो गया है. नीतीश कुमार के अगुवाई वाली एनडीए सरकार का गठन बिहार में हो गया है. और अब बिहार के बाद पश्चिम बंगाल समेत देश के 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं. जिसमें पश्चिम बंगाल, असम, केरल, तमिलनाडु और केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी शामिल हैं. इन पांच राज्यों में से कांग्रेस और बीजेपी की एक-एक राज्य में सरकार है. जबकि बंगाल में तृणमूल कांग्रेस तो केरल में लेफ्ट दल काबिज हैं. बीजेपी हर हाल में इन पांच राज्यों में अपनी सरकार बनाना चाहती है. जिसके लिए बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और गृहमंत्री अमित शाह ने धाकड़ रणनीति तैयार की है. 

 जानिए किस राज्य में होंगे चुनाव और समीकरण क्या कहता है...

1- पश्चिम बंगाल

पश्चिम बंगाल में भी अगले साल की शुरुआत में ही चुनाव होने हैं. यहां पिछले 10 साल से सीएम ममता बनर्जी हैं. यहां 2016 के विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस सबसे ज्यादा 211 सीटें जीतने में सफल रही थी. वहीं, कांग्रेस ने 44 और वामपंथी दलों ने 26 सीटें जीती थीं. जबकि बीजेपी को महज तीन सीटों पर ही जीत मिल सकी थी. वहीं, अन्य दलों ने दस सीटों पर जीत हासिल की थी. हालांकि बीते लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल में बीजेपी का शानदार प्रदर्शन था. लोकसभा चुनाव 2019 में सबसे बड़ा उलटफेर इस बार पश्चिम बंगाल में देखने को मिला है. 2014 में सिर्फ दो सीट जीतने वाली बीजेपी ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 18 सीटों पर जीत हासिल की. वहीं, सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस को भारी घाटा हुआ. 2014 में 42 में से 34 सीटें जीतने वाली टीएमसी को इस बार 22 सीटें मिलीं. बीजेपी को पश्चिम बंगाल में आस बढ़ गई हैं. बीते दिनों गृहमंत्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल का दौरा भी किया था. और अब तय ये किया गया है कि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और गृहमंत्री अमित शाह हर महीने बंगाल के दौरे पर जाएंगे.  

केरल

केरल में अगले साल अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव होने हैं. पिछले चुनाव में सीपीआईएम के नेतृत्व वाले लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट का कब्जा है. यहां 2016 के चुनाव में एलडीएफ ने 91 विधानसभा सीटों पर जीत दर्ज की थी. वहीं, कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (यूडीएफ) को 47 सीटें मिली थीं. इसके अलावा दो सीटें अन्य को मिली थी. फिलहाल केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन हैं. 


3- असम

असम में अगले साल अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव होने हैं. यहां की सत्ता पर पिछले पांच साल से एनडीए का कब्जा और बीजेपी नेता सर्वानंद सोनोवाल मुख्यमंत्री हैं. यहां 2016 के चुनाव में बीजेपी को 60 सीटें मिली थीं जबकि उसकी सहयोगी असम गढ़ परिषद ने 14  और बोडोलैंड पीपल्स फ्रंट ने 12 सीटें जीती थीं. वहीं, कांग्रेस ने असम की 122 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ा था और सिर्फ 26 सीटों पर कब्जा किया था जबकि बदरुद्दीन अजमल की पार्टी AUIDF ने 74 सीटों पर चुनाव लड़कर 13 सीटें जीती थीं. इसके अलावा एक सीट निर्दलीय के खाते में गई थी. 

4- तमिलनाडु

तमिलनाडु में अगले साल शुरुआत में ही विधानसभा चुनाव होने हैं. यहां की सत्ता पर ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (AIADMK) का 10 साल से कब्जा है. 2016 के  विधानसभा चुनाव में AIADMK ने 136 जीती थीं जबकि मुख्य विपक्षी दल डीएमके को 89 सीटें मिली थी. इसके अलावा बाकी 11 सीटें अन्य के खाते में गई थीं. 

 5- पुडुचेरी

केंद्र शासित राज्य पुडुचेरी में अगले साल अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव होने हैं. यहां की सत्ता पर कांग्रेस का कब्जा है. पुडुचेरी के 2016 चुनाव में कांग्रेस ने 21 सीटों पर चुनाव लड़ा था और 15 सीटें जीती थीं. वहीं, ऑल इंडिया एन आर कांग्रेस ने 30 सीटों पर चुनाव लड़कर सिर्फ आठ सीटें जीती थीं. अन्य के खातों में सात सीटें मिली थी. 

Find Us on Facebook

Trending News