बिहार को मिली एक और उपलब्धिः मोतिहारी कृषि विज्ञान केंद्र देश में सर्वश्रेष्ठ, कृषि मंत्री ने उत्कृष्ट कार्यों के लिए वर्चुअली किया सम्मानित

बिहार को मिली एक और उपलब्धिः मोतिहारी कृषि विज्ञान केंद्र देश में सर्वश्रेष्ठ, कृषि मंत्री ने उत्कृष्ट कार्यों के लिए वर्चुअली किया सम्मानित

MOTIHARI: मोतिहारी के पीपराकोठी कृषि विज्ञान केंद्र पीपराकोठी को देश के 725 कृषि विज्ञान केंद्र में से कृषि के क्षेत्र में बेहतर कार्य के लिए देश का सर्वश्रेष्ठ अवार्ड से नवाजा गया है। इस सफलता से यहां के कृषि वैज्ञानिकों में हर्ष का माहौल है। घोषणा के बाद कृषि विज्ञान केंद्र परिसर में वैज्ञानिकों ने एक दूसरे को गुलाल लगाया व मिठाइयां खिलाकर खुशी मनायी। इस अवार्ड की घोषणा नई दिल्ली के भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के 93वें स्थापना दिवस के अवसर पर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने की।

वर्चुअल समारोह में कृषि विज्ञान केंद्र पीपराकोठी द्वारा कृषि एवं कृषि से जुड़े विषयों पर किये गए उत्कृष्ट कार्य के लिए वर्ष 2020-21के लिए पंडित दीनदयाल उपाध्याय कृषि विज्ञान राष्ट्रीय प्रोत्साहन पुरस्कार से सम्मानित किया गया। जिसके तहत दस लाख इनाम की राशि के साथ प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया है। इस संबंध में केविके प्रमुख डा अरविंद कुमार सिंह ने कहा कि इस सफलता का श्रेय पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह समर्पण के साथ सेवा का देन है। साथ ही डा राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति और अटारी पटना के निदेशक  डा अंजनी कुमार सिंह के सफल मार्गदर्शन से ही यह सफलता मिली है। उन्होंने कहा कि पीपराकोठी में दिन प्रतिदिन किसानों के हित में कई इकाई व संस्थान स्थापित किये जा रहे हैं जिससे किसान फायदा उठा रहे हैं।

बराबर किसानों की आय को बढ़ाने के लिए वैज्ञानिकों द्वारा प्रशिक्षण दिया जा रहा है। यहां करीब दो दर्जन से अधिक कृषि और पशुपालन से जुड़े संस्थान संचालित है और कुछ निर्माणाधीन है। यहां पंडित दीनदयाल उपाध्याय बागवानी एवं वानिकी विश्वविद्यालय, ब्राजील के सहयोग से पशु प्रजनन एवं उत्कृष्टता केंद्र, छात्रावास, महिला छात्रावास, पंडित दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा, सरदार बल्लभ भाई पटेल कृषि सहकारी संस्थान, अतिथि भवन समेकित मधुमक्खी पालन विकाश केंद्र, मधुमक्खी बक्सा निर्माण इकाई, गुड़ प्रसंस्करण इकाई, हाई टेक बम्बू नर्सरी, बीज बिक्री केंद्र, फल एवं सब्जी प्रसंस्करण इकाई, बॉक्स प्रसंस्करण इकाई, मशरूम उत्पादन सह प्रत्यक्षन इकाई, किसान सभागार, दलहन बीज प्रसंस्करण इकाई, महिला कौशल विकास भवन, राष्ट्रीय बीज निगम का केंद्र विकसित समेकित कृषि प्रणाली इकाई, पंडित दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा, पूर्व पीएम स्व अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा, अटल द्वार, केविके परिसर में स्थापित है और कुछ निर्माणाधीन है।

वही महात्मा गांधी राष्ट्रीय कृषि अनुसंधान संस्थान, और उसी परिसर महात्मा गांधी की प्रतिमा स्थापित है। आइसीएआर परिसर में ही राष्ट्रीय स्मारक ध्वज, प्रसाशनिक भवन, कर्पूरी ठाकुर किसान प्रशिक्षण संस्थान, पंडित कैलाशपति मिश्र कृषक सभागार, गौवंश स्मारक स्थापित है। अब यहां हैचरी इकाई भी स्थापित हो गई. मौके पर मुख्य रूप से कृषि विज्ञान केंद्र प्रमुख डा अरविंद सिंह, वैज्ञानिक ई अंशु गंगवार, नेहा पारीक, पूनम कुमारी, दुर्गा सिंह सहित कई लोग मौजूद रहे।

Find Us on Facebook

Trending News