वित्तीय उन्नयन से शिक्षकों के चेहरे पर लौटी मुस्कान, माध्यमिक शिक्षक संघ ने सीएम को दी बधाई

वित्तीय उन्नयन से शिक्षकों के चेहरे पर लौटी मुस्कान, माध्यमिक शिक्षक संघ ने सीएम को दी बधाई

PATNA : वित्तीय उन्नयन का लाभ मिलने से बिहार के सरकारी स्कूलों के शिक्षकों के चेहरे पर मुस्कान लौट आयी है। बता दें कि बिहार सरकार ने पहली जनवरी 2009 से बिहार के शिक्षकों को वित्तीय उन्नयन का लाभ देने का फैसला किया है। इसको लेकर  बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष सह विधान पार्षद केदार नाथ पांडेय, महासचिव सह पूर्व सांसद शत्रुघ्न प्रसाद सिंह, विधान पार्षद प्रो. संजय कुमार सिंह और डॉ.संजीव कुमार सिंह ने बिहार के मुख्यमंत्री और वित्त मंत्री को वेतन आयोग की अनुशंसा के आलोक में राजकीयकृत माध्यमिक, उच्च माध्यमिक और परियोजना विद्यालय के प्रधानाध्यापक, सहायक शिक्षकों को वित्तीय उन्नयन का लाभ 01.01.2009 से मंत्रिपरिषद् की बैठक में स्वीकृत करने के लिए धन्यवाद दिया है। उन्होंने कहा कि इस स्वीकृत से राज्यकर्मियों की भांति दस, बीस एवं तीस वर्ष की सेवा पूर्ण होने पर क्रमश: प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय उन्नयन का लाभ मिलेगा।

उन्होंने कहा कि सहायक शिक्षकों को प्रधानाध्यापक के पद पर प्रोन्नति दिये जाने में काफी समय लगता था और ऐसे अनुभवी सहायक शिक्षकों का प्रधानाध्यापक पद पर सीधी नियुक्ति एवं प्रोन्नति भी होती हैं लेकिन इन्हें इस योजना का लाभ अभी तक नहीं मिला था। राज्य वेतन आयोग ने समेकित रूप से ऐसे प्रधानाध्यापकों एवं सहायक शिक्षकों को 2009 से ही प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय प्रोन्नति का लाभ देने की अनुशंसा की थी। 

उन्होंने कहा कि वैसे शिक्षक जिन्हें वरीय वेतनमान स्वीकृत हैं, उन्हें प्रथम वित्तीय उन्नयन एवं जिन शिक्षकों को प्रवरण वेतनमान स्वीकृत हैं उन्हें द्वितीय वित्तीय उन्नयन का लाभ दिया हुआ मान लिया जायेगा।

उन्होंने कहा कि मंत्रिपरिषद ने इसे लागू करने के लिए 15 करोड़ 76 लाख 80 हजार रुपये की स्वीकृति तत्काल दी है। उन्होंने कहा कि साथ ही साथ उत्क्रमित माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों के लिए भी 81 करोड़ की राशि स्वीकृत की गयी है। ऐसे शिक्षकों को जिन्हें पिछले 6 से 8 माह तक वेतनादि नहीं मिल पाता था उन्हें तत्काल सरकार ने राहत दी है।

इन सबों ने मुख्यमंत्री व वित्तमंत्री आग्रह किया है कि उत्क्रमित विद्यालय के शिक्षकों के वेतन भुगतान का स्थायी समाधान निकाला जाय जिससे प्रत्येक माह उनके खाते में वेतन की राशि प्राप्त कराना सुनिश्चित किया जा सके।

Find Us on Facebook

Trending News