शिक्षक बोला इस्लाम में नहीं है वंदे मातरम कहने की इजाजत इसलिए नहीं गाऊंगा, अब होगी कड़ी कार्रवाई

शिक्षक बोला इस्लाम में नहीं है वंदे मातरम कहने की इजाजत इसलिए नहीं गाऊंगा, अब होगी कड़ी कार्रवाई

PATNA/KATIHAR : बिहार में एक बार फिर से वंदे मातरम् को लेकर नया विवाद सामने आया है। कटिहार के एक मुस्लिम शिक्षक द्वारा वंदे मातरम गाने से इंकार करने का मामला गरमा गया है। जिसके बाद बिहार के शिक्षामंत्री ने कहा है कि मामले के जांच के बाद उस शिक्षक पर कार्रवाई की जाएगी।इसको लेकर कटिहार जिले में सैकड़ों लोगों ने एक स्कूल के बाहर जमकर प्रदर्शन किया। लोगों का आरोप है कि स्कूल का टीचर वंदे मारतम नहीं गाता है। इस मामले में टीचर का भी एक विडियो सामने आया है, जिसमें वह कह रहा है कि वंदे मातरम गाना उसके मजहब के खिलाफ है।

घटना जिले के जिले के मनिहारी प्रखंड के प्राथमिक स्कूल की है। यहां पर टीचर अफजल हुसैन की तैनाती है। स्कूल टीचर पर आरोप है कि उसने 26 जनवरी को वंदे मातरम गाने से इनकार कर दिया। उसने कहा कि इस्लाम में वंदे मातरम कहना हराम है। यही नहीं, टीचर ने यह भी कहा कि भारतीय संविधान में कहीं भी यह नहीं लिखा है कि वंदे मातरम गाना जरूरी है।

क्या कहना है टीचर अफजल का

अफजल ने कहा कि हम लोग वंदे मातरम नहीं बोलते हैं क्योंकि हम एक अल्लाह को मानते हैं। वंदे मातरम का मतलब होता है। वंदे का अर्थ है वंदना करना और मातरम मतलब भारत माता की। भारत माता की वंदना करना जो हम नहीं करते हैं। अफजल हुसैन इस स्कूल का प्रभारी प्राचार्य भी है। स्कूल टीचर का यह विडियो सामने आने के बाद लोगों का गुस्सा भड़क गया। दर्जनों लोग स्कूल पहुंचे और अफजल के साथ हाथापाई की। लोगों ने वंदे मातरम के नारे लगाए और अफजल पर दबाव बनाया कि वह भी वंदे मातरम कहे। हालांकि अफजल ने कहा कि उसके साथ चाहे जो भी करो, वह वंदे मारतम नहीं गाएगा क्योंकि इस्लाम उसे इसकी इजाजत नहीं देता है।

मंत्री ने दिया कार्रवाई का आदेश

बिहार के शिक्षा मंत्री कृष्‍ण नंदन वर्मा ने कहा कि उन्हें इस घटना की जानकारी हुई है। इस मामले में जांच के आदेश दिए गए हैं। टीचर के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। टीचर ने राष्ट्रगीत का अपमान किया है उसे माफ नहीं किया जाएगा।

Find Us on Facebook