CM नीतीश का 'निश्चय' अनिश्चय में बदला, मुख्यमंत्री का सपना फेल करने वाले 373 मुखिया बेनकाब,दर्ज हुआ केस

CM नीतीश का 'निश्चय' अनिश्चय में बदला, मुख्यमंत्री का सपना फेल करने वाले 373 मुखिया बेनकाब,दर्ज हुआ केस

PATNA: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निश्चय से खेलने वाले मुखिया पर कार्रवाई हुई है। हर घर नल का जल योजना में अब तक गड़बड़ करने वाले बिहार के 373  मुखिया के ऊपर  कार्रवाई हुई है। सिर्फ मुखिया ही नहीं बल्कि सरकारी कर्मी भी इस योजना में खूब माल बटोरे हैं,उन पर भी एक्शन हुआ है।

भ्रष्टाचार की गंगोत्री है सीएम नीतीश का 7 निश्चय

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का 7 निश्चय  भ्रष्टाचार की गंगोत्री है। भ्रष्टाचार रूपी इस गंगोत्री में जनप्रतिनिधि से लेकर  अधिकारी तक डुबकी लगा रहे हैं। नीतीश सरकार की भद्द पीटने के बाद  सरकार थोड़ी एक्शन में है और अब तक 373 मुखिया पर प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। वहीं 45 ठेकेदार ,62 सुपरवाइजर 32 पंचायत सचिव पर भी प्राथमिकी का आदेश हुआ है। सूचना के अधिकार अधिनियम के तहत मांगी गई जानकारी में इसका खुलासा हुआ है।

जानिए किस जिले में कितनें मुखिया पर दर्ज हुआ है केस

जिन जिलों में  मुखिया पर प्राथमिकी हुई है उसमें पटना में 12,औरंगाबाद में 9,नालंदा में 6, जहानाबाद में 19, मुजफ्फरपुर में 16, गया में 17, भागलपुर में 13, मधुबनी में 22,  दरभंगा में 13, सहरसा में 16,बांका में 17 ,रोहतास में 15, पूर्वी चंपारण में 12, पश्चिम चंपारण में नौ, सिवान में 9, सारण में पांच, मुंगेर में 19, समस्तीपुर में 13, सुपौल में 11, मधेपुरा में 17 ,पूर्णिया में 12, भोजपुर में 8, गोपालगंज में 12 ,वैशाली में 17, सीतामढ़ी में 12 मुखिया शामिल हैं।


Find Us on Facebook

Trending News