बिहार चुनाव के बीच आयकर विभाग ने राज्य के 5 जिलों में बड़ी कार्रवाई, विभाग की बिहार-झारखंड इनवेस्टीगेशन विंग को मिली कुछ गोपनीय सूचना

बिहार चुनाव के बीच आयकर विभाग ने राज्य के 5 जिलों में बड़ी कार्रवाई,  विभाग की बिहार-झारखंड  इनवेस्टीगेशन विंग को मिली कुछ गोपनीय सूचना

DESK चुनावी आते ही आयकर विभाग ने राज्यभर में चौकसी और बढ़ा दी है. बिहार में चल रहे बिहार चुनाव के बीच आयकर विभाग ने राज्य के 5 जिलों में बड़ी कार्रवाई की है। विभाग ने गोपनीय सूचना के आधार पर एक सिल्क कारोबारी, सरकारी ठेकेदार और खाद्य विभाग के एजेंट के आवास-दफ्तर सहित अन्य ठिकानों पर छापे मारे है। भागलपुर, पूर्णिया, कटिहार, सहरसा, मधेपुरा में सोमवार की सुबह शुरू हुई सर्च की कार्रवाई मंगलवार को देर शाम तक जारी थी। कार्रवाई के दौरान नकदी, ज्वेलरी और अन्य कागजात के अलावा लेनदेन की कई ऐसी एंट्री मिली हैं, जिनका आयकर रिटर्न में कोई जिक्र नहीं है।

चुनावी दौर में आयकर विभाग ने राज्यभर में चौकसी और बढ़ा दी है। विभाग की बिहार-झारखंड की इनवेस्टीगेशन विंग को मिली कुछ गोपनीय सूचनाओं के आधार पर कार्रवाई की गई। इसके लिए 10 टीमों का गठन किया गया था। सोमवार की सुबह भागलपुर के सिल्क कारोबारी विनोद कुमार अग्रवाल के आवास और उनके दफ्तर पर सर्च की गई। वे गोवर्धन सिल्क प्राइवेट लिमिटेड के स्वामी हैं। विभागीय सूत्रों के अनुसार उनके यहां से नगदी और ज्वेलरी मिली है। इसके अलावा विभाग को लेनदेन के कुछ कागजात और प्रविष्टियां (एंट्री) भी मिली हैं।


दूसरी कार्रवाई सरकारी सड़क ठेकेदार मनोज कुमार के मधेपुरा और सहरसा स्थिति ठिकानों पर की गई है। इनके ठिकानों से भी विभाग को नकदी के साथ-साथ लेनदेन के कागजात मिले हैं। जबकि तीसरी कार्रवाई पूर्णिया में मनोज कुमार यादव के यहां चल रही है। इनके आवास सहित चार ठिकानों पर सर्च की कार्रवाई की जानकारी मिली है। मनोज खाद्य निगम से जुड़े सप्लायर हैं। आयकर विभाग के सूत्रों की मानें तो सर्च के दौरान उनके यहां से काफी कैश भी मिला है। हालांकि विभाग ने इन तीनों में से किसी के राजनैतिक दलों से सीधे जुड़े होने की पुष्टि नहीं की है।

स्कार्पियो से मिला 40 लाख नगद 

मनोज कुमार की काली स्कार्पियो से बीते नौ अक्टूबर को पूर्णिया के केहाट थाना क्षेत्र में चेकिंग के दौरान 40 लाख रुपए कैश मिले थे। इसे स्टेटिक सर्विलांस टीम ने पकड़ा था। इसकी जानकारी आयकर विभाग को दी गई थी। पकड़ी गई नकदी के बारे में कोई संतोषजनक जानकारी नहीं दी गई थी। उसके बाद विभाग ने अन्य सूचनाएं एकत्र कर सोमवार को सर्च की कार्रवाई की।

Find Us on Facebook

Trending News