नीतीश कैबिनेट के मंत्रियों के वोट का पूरा लेखा-जोखा,जानिए 2015 के चुनाव में 'माननीयों' ने कितने वोट से दर्ज की थी जीत...

नीतीश कैबिनेट के मंत्रियों के वोट का पूरा लेखा-जोखा,जानिए 2015 के चुनाव में 'माननीयों' ने कितने वोट से दर्ज की थी जीत...

PATNA: बिहार में विधानसभा चुनाव की उल्टी गिनती शुरू हो गई है। सत्ता पक्ष और विपक्ष के नेता चुनावी तैयारी में  जुटे हैं.पिछली दफा यानि 2015 के विस चुनाव में नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू महागठबंधन का हिस्सा थी।इस बार जेडीयू एनडीए के खेमे हैं।इस वजह से कई सीटों पर पेंच फंसा है।आज हम बात कर रहे हैं नीतीश कैबिनेट में शामिल मंत्रियों की। वैसे तो नीतीश कैबिनेट में कई वरिष्ठ मंत्री विधान परिषद कोटे से मंत्री बने हैं।खुद सीएम नीतीश और डिप्टी सीएम सुशील मोदी विधान परिषद सदस्य हैं।इनके अलावे कई वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री भी ऊपरी सदन के सदस्य हैं।

जानिए मंत्रियों के वोट का पूरा लेखा-जोखा

2015 में विधानसभा चुनाव जीतकर विधायक बने और फिर मंत्री बने माननीय एक बार फिर से चुनावी मैदान में उतरने की तैयारी कर रहे हैं.जेडीयू के कई मंत्री ऐसे हैं जो बीजेपी उम्मीदवार को हराकर विधायक बने थे और फिर मंत्री मंत्री बने।इस बार समीकरण बिल्कुल अलग है।शुरूआत चंपारण से करते हैं....सिकटा विस से जीते और नीतीश कैबिनेट में अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री फिरोज अहमद 2015 में बीजेपी के उम्मीदवार दिलीप वर्मा को 2835 वोट से हराया था।फिरोज अहमद को 69870 और दिलीप वर्मा को 67035 वोट मिले थे। सहकारिता मंत्री और मधुबन के भाजपा विधायक राणा रणधीर ने राजद उम्मीदवार शिवजी राय को 16222 वोट से शिकस्त दी थी।राणा रणधीर को 61054 और राजद उम्मीदवार शिवजी राय को 44832 वोट मिले थे। 

वहीं कला संस्कृति मंत्री और मोतिहारी से भाजपा विधायक प्रमोद कुमार ने राजद उम्मीदवार विनोद श्रीवास्तव को 18517 वोट से हराया था। प्रमोद कुमार को 79947 वोट और विनोद श्रीवास्तव को 61430 वोट मिले थे.बाबू बरही से जेडीयू विधायक और पंचायती राज मंत्री कपिलदेव कामत ने लोजपा उम्मीदवार विनोद सिंह को 20267 वोट से हराया था।कपिलदेव कामत को 61486 और लोजपा उम्मीदवार विनोद सि्ंह को 41219 वोट प्राप्त हुए थे।लौकहा के जेडीयू विधाय़क और आपदा प्रबंधन मंत्री लक्षमेश्वर राय ने  बीजेपी के प्रमोद प्रियदर्शी को 23833 वोट से हराया था। लक्षमेश्वर राय को 79971 और प्रमोद प्रियदर्शी को 56138 वोट मिले थे।

सबसे वरिष्ठ मंत्री बिजेन्द्र यादव 37 हजार वोट से  जीते थे

सुपौल से जेडीयू विधायक और नीतीश कैबिनेट के सबसे वरिष्ठ मंत्री बिजेन्द्र यादव ने बीजेपी के किशोर कुमार को 37397 वोटों से हराया था। बिजेन्द्र यादव को 82295 और किशोर कुमार को 44898 वोट मिले थे।बनमनखी के बीजेपी विधायक और पर्यटन मंत्री कृष्ण कुमार रिषी को 59053 और राजद के संजीव पासवान को 58345 वोट यानि सिर्फ 708 वोट से जीत-हार हुई थी। रूपौली से जेडीयू विधायक और गन्ना मंत्री बीमा भारती को 50945 और बीजेपी के प्रेम प्रकाश मंडल को 41273 वोट मिले थे।यानि 9672 वोट से जीत-हार हुई थी।प्राणपुर से बीजेपी विधायक  और पिछड़ा कल्याण मंत्री विनोद कुमार सिंह को 47924 और एनसीपी के इशरत प्रवीण को 39823 वोट यानि 8101 वोट से जीत मिली थी। आलमनगर से जेडीयू विधायक और लघु सिंचाई मंत्री नरेंद्र नारायण यादव को 87962 और लोजपा के चंदन सिंह को 44086 वोट यानि 43876 वोट से जीत हुई थी.सिंघेश्वर से जेडीयू विधायक और एससी एसटी मंत्री रमेश ऋषिदेव को 83073 और हम को मंजू  देवी को 32873 वोट यानि 50200 वोट से जीत मिली थी।

सुरेश शर्मा करीब 30 हजार वोटों से जीते थे चुनाव

गौराबौराम से जेडीयू विधायक और खाद्य आपूर्ति मंत्री मदन सहनी को 51403 मत और विनोद सहनी लोजपा उम्मीदवार को 37341 मात्र मिले थे.यानि 14062 मतों से जीत मिली थी.  मुजफ्फरपुर से बीजेपी विधायक सुरेश शर्मा जो नीतीश कैबिनेट में शहरी विकास मंत्री हैं उन्हें 95594 जबकि विजेंद्र चौधरी जेडीयू उम्मीदवार को 65855 वोट मिले थे,यानि 29739 वोट से जीत मिली थी. हथुआ से जेडीयू विधायक और समाज कल्याण मंत्री रामसेवक सिंह को 57917और हम के महाचंद्र सिंह को 34933 मत मिले थे,इस तरह से 22984 वोट के अंतर से जीत हुई थी.

कल्याणपुर से जेडीयू विधायक महेश्वर हजारी को 84904 और लोजपा के प्रिंस राज को 43218 मत मिले थे.इस तरह से 37686 वोट से जीत हुई थी. बांका से रामनारायण मंडल जो नीतीश कैबिनेट में राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री हैं उन्हें 52389 मत और राजद उम्मीदवार जफरुल होदा को 48649 मत मिले यानि 3740 मत से जीत हुई थी. लखीसराय से बीजेपी विधायक और श्रम मंत्री विजय सिन्हा को 75901 वोट जबकि जेडीयू उम्मीदवार रामानंद मंडल को 69345 मत मिले.इस तरह से 6556 वोट से जीत हुई।

बृजकिशोर बिंद सिर्फ 671 वोट से जीते थे चुनाव

राजधानी पटना की महत्वपूर्ण सीट पटना साहिब से बीजेपी उम्मीदवार और पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव को 88108 मत जबकि राजद उम्मीदवार संतोष मेहता को 85316 मत.इस तरह से 2792 वोट से जीत हुई थी. राजपुर से जेडीयू विधायक और परिवहन मंत्री संतोष निराला को 84184 मत और बीजेपी के विश्वनाथ राम को 51396 मत मिले,यानि 32788 वोट से जीत हुई थी. चैनपुर के बीजेपी विधायक बृजकिशोर बिंद जो नीतीश कैबिनेट में मंत्री हैं उन्हें 58913 मत जब भी बीएसपी के जमां खान को 58242 मत मिले थे, इस तरह से सिर्फ 671 वोट से जीत हुई थी।

प्रेम कुमार करीब 23 हजार वोट से जीते थे

 दिनारा के जदयू विधायक और मंत्री जय कुमार सिंह को 64699 मत जबकि बीजेपी के राजेंद्र सिंह को 62008 मत मिले,इस तरह से 2691 वोट से जीत हुई थी. घोसी के जेडीयू विधायक और शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा को 67248 मत जबकि राहुल कुमार हम उम्मीदवार को 45623 मत मिले थे और 21625 मत से विजय हुई थी. गया के भाजपा विधायक और कृषि मंत्री प्रेम कुमार को 66891वोट जबकि कांग्रेस के प्रियरंजन को 44102 वोट मिले। यानि कृषि मंत्री 22789 वोट से जीत हुई थी।

Find Us on Facebook

Trending News