बिहार के निजी लैबों में कोरोना महामारी की आरटीपीसीआर जांच अब 800 रुपए में होगी, स्वास्थ्य विभाग ने जारी किए आदेश

बिहार के निजी लैबों में कोरोना महामारी की आरटीपीसीआर जांच अब 800 रुपए में होगी, स्वास्थ्य विभाग ने जारी किए आदेश

पटना... बिहार में बढ़ते कोरोना के प्रकोप को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने लोगों को एक बड़ी राहत दी है। अब निजी लैबों में भी अन्य राज्यों की तरह कोरोना महामारी की आरटीपीसीआर जांच 800 रुपए में होगी। स्वास्थ्य विभाग के निदेशक प्रमुख (रोग नियंत्रण, लोक स्वास्थ्य, पारा मेडिकल) स्वास्थ्य सेवाएं ने मंगलवार को इस संबंध में आदेश जारी किया। स्वास्थ्य विभाग ने बिहार में कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रसार को देखते हुए कुछ माह पहले निजी लैब में आरटीपीसीआर जांच की दर निर्धारित करने का आदेश जारी किया था। 

इसके अनुसार निजी लैब में आरटीपीसीआर जांच 1500 रुपए की दर से करने की अनुमति दी गई थी। अन्य राज्यों में निर्धारित शुल्क में कमी को देखते हुए अब बिहार में भी 800 रुपए प्रति जांच संशोधित दर निर्धारित की गई है। मरीज के निवास से सैंपल को लैब ले जाने हेतु 300 रुपए की राशि पूर्ववत निर्धारित रखी गयी है। रैपिड एंटीजन टेस्ट किट की कीमत अभी 150  रुपए से कम हो गई है, इसलिए रैपिड एंटीजन किट से जांच की निर्धारित दर 250 रुपए प्रति जांच निर्धारित की गई है। पूर्व में एंटीजन किट से जांच के लिए 600 रुपए प्रति जांच की दर निर्धारित थी।
 


आईसीएमआर के पोर्टल पर जांच की रिपोर्ट दर्ज कराना अनिवार्य होगा। जांच से संबंधित सूचना स्टेट सर्विलांस अधिकारी के ई-मेल पर रोज संध्या पांच बजे तक देना अनिवार्य होगा। सभी पॉजिटिव केस की सूचना तत्काल संबंधित जिला के सिविल सर्जन तथा जिला सर्विलांस अधिकारी को देना अनिवार्य किया गया है।  

आरटीपीसीआर जांच के लिए 800 रुपए से अधिक राशि लिए जाने और अन्य प्रावधानों का उल्लंघन करना एपीडेमिक डिजीज एक्ट और बिहार महामारी कोविड 19 नियमावली, 2020 के प्रावधानों का उल्लंघन माना जाएगा। 


Find Us on Facebook

Trending News