नियोजित शिक्षकों के 74 हजार फोल्डर किसने कर दिया गायब ? 22 DEO-DPO और 156 BEO जांच के दायरे में

नियोजित शिक्षकों के 74 हजार फोल्डर किसने कर दिया गायब ?  22 DEO-DPO और 156 BEO जांच के दायरे में

PATNA:  बिहार  के नियोजित शिक्षकों का 74 हजार फोल्डर किसने कर दिए गायब...आखिरकार 74000 नियोजित शिक्षकों का नियोजन फोल्डर क्या हुआ ...क्या आसमान खा गयाा या जमीन निगल गई।

 पटना उच्च न्यायालय के आदेश पर फर्जी शिक्षकों की नियुक्ति में गड़बड़ी की हो रही जांच में यह स्पष्ट हो गया है कि नियोजन इकाइयों ने बड़ा घालमेल किया है।सूबे की  38 जिलों से नियोजन संबंधी रिकार्ड तलब किए गए। लेकिन एक बड़ा सवाल है कि आखिर 74000 नियोजित शिक्षकों का रिकॉर्ड किसने गायब कर दिया? 

विजिलेंस की टीम सभी जिलों में शिक्षक नियोजन प्रक्रिया की जांच कर रही है, लेकिन 74000 नियोजित शिक्षकों का रिकॉर्ड उन्हें नहीं मिल रहा।

जानकारी के अनुसार पटना हाईकोर्ट के आदेश पर निगरानी विभाग नियोजित शिक्षकों की बहाली की जांच कर रही है। विजिलेंस ब्यूरो की टीम के द्वारा किए गए जांच में 450 फर्जी नियोजित शिक्षकों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। जिसमें सबसे ज्यादा नवादा में 45 जहानाबाद में 42 बक्सर में 130 रोहतास में 29 भोजपुर में 16 पटना पूर्णिया अररिया मुजफ्फरपुर और मुंगेर में वही मधुबनी एवं दरभंगा में 11-11 शिक्षक शामिल हैं।

234 मुखिया पर भी नियोजन में घपला करने का शक

जांच में बिहार के करीब 234 मुखिया जो पंचायत नियोजन इकाई के अध्यक्ष होते हैं उन पर कार्रवाई की तलवार लटकी है। 74 हजार फर्जी नियोजित शिक्षकों के नियोजन फोल्डर गायब मामले में 234 मुखिया को भी विजिलेंस टीम ने अपने जांच के दायरे में रखा है। बता दें कि  हर जिले में विजिलेंस ब्यूरो की टीम के द्वारा शिक्षक नियोजन प्रक्रिया की जांच की जा रही है। जिसमें नियोजन इकाइयों के रिकॉर्ड रूम से 74 हजार नियोजित शिक्षकों के फोल्डर गायब पाए गए हैं।

22 डीईओ-डीपीओ और 156 बीईओ भी जांच की जद में

फर्जी प्रमाण पत्र के आधार पर नियुक्त 74 हजार नियोजित शिक्षकों के रिकॉर्ड गायब मामले में विजिलेंस ब्यूरो की टीम ने बाईस जिला शिक्षा पदाधिकारी, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी और 156 से भी ज्यादा प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को अपने जांच की जद में रखा है ,क्योंकि नियोजन प्रक्रिया में इनकी भूमिका अहम होती है।विजिलेंस ब्यूरो को इन अधिकारियों के द्वारा कहीं न कहीं नियोजन प्रक्रिया में घालमेल करने का शक नजर आ रहा है ।74 हजा फर्जी नियोजित शिक्षकों के मामले में इन से जल्द ही पूछताछ की जा सकती है।

Find Us on Facebook

Trending News