बिहार के नेताओं ने साध ली चुप्पी तो यूपी का यह सांसद उतरा बीपीएससी अभ्यर्थियों के समर्थन में, सीएम नीतीश से कर दी बड़ी मांग

बिहार के नेताओं ने साध ली चुप्पी तो यूपी का यह सांसद उतरा बीपीएससी अभ्यर्थियों के समर्थन में, सीएम नीतीश से कर दी बड़ी मांग

पटना. बिहार में बीपीएससी परीक्षा में पेपर लीक होने से लाखों प्रतियोगी छात्रों का भविष्य अधर में है. बिहार में एनडीए सरकार भले मामले की जांच कराने का दावा कर रही हो लेकिन अब भाजपा के ही एक सांसद ने नीतीश सरकार को आइना दिखाया है.  प्रतियोगी परीक्षार्थियों को हो रही परेशानी पर उत्तर प्रदेश से निर्वाचित भाजपा सांसद वरुण गांधी ने मुख्यमंत्री नीतीश सरकार को पत्र लिखा है. उन्होंने लिखा है, आदरणीयन नीतीश जी, बीपीएससी में हुई धांधली से 6 लाख अभ्यर्थियों का भविष्य अधर में है. निष्पक्ष जांच, मुख्य साजिशकर्ता की गिरफ्तारी, परीक्षा की तारीख पर संशय एवं BPSC चेयरमैन की बर्खास्तगी जैसे कई मुद्दे हैं, जिनपर तत्काल कार्रवाई न्याय के साथ विकास की अवधारणा को मजबूती देगी.

वरुण ने लिखा है, बहुत ही आशा के साथ मैं आपको यह पत्र लिख रहा हूँ. मुखे पूरी उम्मीद है कि आप इस पत्र में छिपे लाखों प्रतियोगी छात्रों के दर्द को समझेंगे और आवश्यक कार्यवाही करेंगे. 8 मई को बीपीएससी द्वारा आयोजित प्रारंभिक परीक्षा पेपर लीक होने की वजह से रद्द कर दी गई थी. भ्रष्ट तन्त्र एवं आयोग के अंदर स्वार्थी व भ्रष्टाचारी तत्वों की मिलीभगत से लगभग 6 लाख अभ्यर्थियों का परिश्रम एवं मूल्यवान समय व्यर्थ चला गया. इससे ना सिर्फ अभ्यर्थियों के मनोबल को गहरा आघात लगा है बल्कि लाखों परीक्षार्थियों का भविष्य भी अधर में लटक गया है. 


उन्होंने कहा है कि कई अभ्यर्थियों ने विभिन्न माध्यमों से मुझसे भी सम्पर्क किया है. मैंने स्वयं उनसे बात की है और उनकी व्यथा मैं इस पत्र के माध्यम से आपतक पहुँचाने का माध्यम बन रहा हूँ. उन्होंने सीएम नीतीश का ध्यान आकृष्ट करते हुए कहा कि लाखों परिश्रमी युवा अभ्यर्थी प्रदेश के दूर-दराज से परीक्षा देने अलग अलग केन्द्रों पर पहुंचे थे. आर्थिक संकट से जूझ रहे अभ्यर्थी ने सडकों पर राते गुजार दी, इस उम्मीद में कि परीक्षा निकट भविष्य में पुनः ली जाएगी. 

बिहार सरकार द्वारा गठित जांच कमिटी ने आनन फानन में जांच कर इस कांड में सम्मिलित कुछ लोगों की गिरफ्तारी भी की. मगर अभी तक सफेदपोश नकल माफियाओं का बेनकाब होना बाकी है, जो इस कृत्य के सूत्रधार हैं. उन्होंने कहा कि मैं सभी पीड़ित छात्रों की तरफ से आपके समक्ष यह मांग रखता हूं कि आयोग की इस बड़ी नाकामी के जवाबदेह बीपीएससी के अध्यक्ष को अविलम्ब बर्खास्त किया जाए तथा नए सिरे से निष्पक्ष जांच कमिटी गठित कर फिर से जांच करवाई जाए. साथ ही उन्होंने जल्द से जल्द पुनः परीक्षा कराने की अपील की है. 

सीएम नीतीश को सुझाव देते हुए कहा कि बीपीएससी जैसी प्रतिष्ठित संस्था की गिरती साख को संभालें. लाखों युवाओं के साथ साथ महान राज्य बिहार का भविष्य भी आपके हाथों में है. वरुण गांधी ने उम्मीद जताई है कि सीएम नीतीश उनके पत्र गंभीरता दिखाएंगे और इस विषय पर कठोर कदम उठाकर पूरे देश के समक्ष एक उदाहरण पेश करेंगे.


Find Us on Facebook

Trending News