इंटर नामांकन के आवेदन फॉर्म व रजिस्ट्रेशन शुल्क में ली गई राशि का हिस्सा कॉलेजों-प्लस 2 विद्यालयों को दे BSEB

इंटर नामांकन के आवेदन फॉर्म व रजिस्ट्रेशन शुल्क में ली गई राशि का हिस्सा कॉलेजों-प्लस 2 विद्यालयों को दे BSEB

पटना: बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ ने बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष से मांग की है कि समिति द्वारा पिछले दो सत्रों में इंटर नामांकन हेतु ओएफएसएस के तहत छात्र-छात्राओं से आवेदन फॉर्म व रजिस्ट्रेशन शुल्क के रूप में ली गई राशि का भुगतान नियमानुसार राज्य के महाविद्यालयों एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयों को करायें।  संघ के मीडिया प्रभारी सह प्रवक्ता अभिषेक कुमार ने यह मांग उठाई है।

दो सत्र बीत जाने के बावजूद भी नहीं मिली राशि 

संघ के प्रवक्ता अभिषेक कुमार ने कहा कि इंटर में नामांकन से पूर्व बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा ओएफएसएस के माध्यम से छात्र-छात्राओं से आवेदन कराए जाते हैं तथा आवेदन सह पंजीयन शुल्क के रूप में ऑनलाइन 300 रूपये भी लिये जाते है। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने ही नियमावली बनाई है कि महाविद्यालयों एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयो में नामांकित छात्र-छात्राओं के अनुसार इस राशि से 200 रूपया प्रति छात्र-छात्रा संबंधित संस्थानों को दिए जायेगें। मगर पिछले दो सत्रों में कोई भी राशि इस मद में महाविद्यालयों एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयो को नहीं दी गई है। जबकि ये सभी छात्र-छात्राएं संबंधित संस्थानों से दो वर्षीय अध्ययन समाप्त व परीक्षा उत्तीर्ण भी कर चुके हैं। 

उन्होंने कहा कि एक बार फिर बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा इंटर नामांकन की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई। जिससे संस्थानों में परीक्षा समिति के निर्देशानुसार इंटर नामांकन की प्रक्रिया पूर्ण करने में खर्च होने वाली राशि को लेकर उहापोह की स्थिति है और संस्थान प्रधानों व शिक्षकों द्वारा अपने वेतन की राशि खर्च कर निर्देश व विभिन्न प्रकिया का अनुपालन कराया जा रहा है। 

बोर्ड के अध्यक्ष तत्काल संज्ञान लें और भुगतान का निर्देश दें

अभिषेक कुमार ने कहा कि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा ही बनाए गए भुगतान के नियम पर अब तक कारवाई ना करना खेदजनक है। जबकि सभी शिक्षण संस्थानों एवं नामांकित विद्यार्थियों का विवरण समिति के पास उपलब्ध है। समिति के अध्यक्ष को तत्काल इस पर संज्ञान लेकर नियमानुसार सभी संस्थानों को अविलंब भुगतान कराने का निर्देश संबंधित अधिकारियों को दें। जिससे इंटर नामांकन में उनके द्वारा दिए गए निर्देशों का निर्बाध रुप से क्रियान्वयन किया जा सके। 

परीक्षा फार्म भरवाने के आदेश पर बोर्ड करे पुनर्विचार

  संघ के प्रवक्ता अभिषेक कुमार ने कहा कि  मैट्रिक व इंटर परीक्षा फॉर्म भरवाने के आदेश पर बिहार विद्यालय परीक्षा समिति पुनर्विचार करें। क्योंकि राज्य के लगभग 16 जिलों में बाढ़ के कारण लोगों का जीवन काफी अस्त व्यस्त है। साथ ही महाविद्यालयों एवं विद्यालयों में बाढ़ का पानी भी भरा हुआ है। ऐसे में छात्र-छात्रा ना ही अपना मैट्रिक उत्तीर्णता व अन्य प्रमाण पत्र आदि विद्यालयों से प्राप्त कर पा रहे हैं और ना ही नामांकन लेने के लिए विद्यालयों एवं महाविद्यालयों में पहुंच पा रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ बोर्ड द्वारा इंटर एवं मैट्रिक परीक्षा 2021 के लिए फॉर्म भरने की तिथि भी घोषित कर दी गई है। इससे इन जिलों के छात्र- छात्रा व उनके अभिभावकों सहित संस्थानों के प्रधान एवं शिक्षकों में भी ऊहापोह एवं अफरा तफरी मची हुई है। साथ ही साथ राज्य में प्रतिदिन कोरोना संक्रमण के लगातार  बढ़ते आंकड़ों ने भी सबों को अक्रांत किया है। 

उन्होंने कहा कि नामांकन, फार्म भरने, मैट्रिक व इंटर उत्तीर्णता प्रमाण पत्र आदि लेने में छात्र-छात्राओं एवं उनके अभिभावकों की संस्थानों में लगातार भीड़ से कोरोना संक्रमण बढ़ने की काफी संभावना है।ऐसे में राज्य के महाविद्यालयों और विद्यालयों के शिक्षकों, शिक्षकेतर कर्मियों के साथ होनेहार छात्र-छात्राओं को यदि संक्रमण होता है और कोई हादसा होता है तो इसकी सारी जबावदेही बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की होगी। ऐसे में बिहार विद्यालय परीक्षा समिति अपने इन आदेशों पर पुनर्विचार करें और तत्काल इसे स्थगित करें।

Find Us on Facebook

Trending News