बिहार में 14 सितंबर से ट्रकों का चक्का जाम, पुलिस-परिवहन और माइनिंग अफसरों के आतंक से परेशान संघ ने लिया निर्णय

बिहार में 14 सितंबर से ट्रकों का चक्का जाम, पुलिस-परिवहन और माइनिंग अफसरों के आतंक से परेशान संघ ने लिया निर्णय

PATNA: बिहार में 14 सितंबर से ट्रकों का परिचालन अनिश्चितकाल के लिए ठप हो जाएगा। बिहार ट्रक एसोसिएशन ने आज इसका ऐलान किया है। 20 सूत्री मांगों को लेकर बिहार ट्रक ऑनर एसोसिएशन ने ट्रकों के परिचालन ठप करने का निर्णय लिया है।संघ ने सरकार पर आरोप लगाया है कि हमारी मांगों पर कोई ध्यान नहीं दी गई।लिहाजा विवश होकर चक्का जाम का निर्णय लेना पड़ा है।

बिहार ट्रक एसोसिएशन के अध्यक्ष भानु शेखर सिंह ट्रकों के चक्का जाम का ऐलान किया है।उन्होंने कहा कि पूरे बिहार में 14 सितंबर की सुबह 6 बजे से ट्रकों का परिचालन ठप हो जाएगा। उन्होंने आरोप लगाया कि बिहार में पुलिस-परिवहन और माइनिंग अधिकारियों का आतंक है।इन अधिकारियों के आतंक की वजह से ट्रक मालिक परेशान हैं। बिहार के ट्रक मालिक करोड़ों रू लगाकर खाकपति बनते जा रहे हैं और अधिकारी करोड़पति बन रहे।अब ऐसा नहीं चलने वाला है । संघ की 20 सूत्री मांगें हैं।जब तक हमारी सभी 20 मांगें नहीं मानी जाती है तब तक चक्का जाम जारी रहेगा।

उन्होंने सरकार पर आरोप लगाया कि 2019 में परिवहन विभाग और संघ के बीच समझौता हुआ था।तब सरकार की तरफ से 90 दिनों में मांग पूरी करने का आश्वासन दिया गया था।लेकिन एक साल बीत गए लेकिन कोई कदम नहीं उठाया गया।संघ के अध्यक्ष ने बताया कि इस बार 20 मांगों को स्वीकार किये बिना चक्का जाम को वापस नहीं लेंगे,साथ ही इस बार अब मुख्य सचिव के सामने नहीं बल्कि मुख्यमंत्री से वार्ता करेंगे।उसके बाद ही हड़ताल से वापस आयेंगे.


Find Us on Facebook

Trending News