बिहार में 28 जनवरी को आयोजित STET को लेकर एक बार फिर से BSEB अध्यक्ष ने किया क्लीयर, जानिए.....

बिहार में 28 जनवरी को आयोजित STET को लेकर एक बार फिर से BSEB अध्यक्ष ने किया क्लीयर, जानिए.....

PATNA: बिहार बोर्ड ने एक बार फिर से स्पष्ट किया है कि माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा (STET), 2019 अपने पूर्व निर्धारित तिथि एवं समय के अनुसार ही ली जाएगी।यानि की 28 जनवरी को हीं परीक्षा आयोजित होगी।बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर की तरफ से यह जानकारी दी गई है।

 माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा (एसटीईटी) 2019 को लेकर बिहार बोर्ड ने तैयारी पूरी कर ली है।परीक्षा में किसी तरह की कदाचार को रोकने को लेकर विशेष तैयारी की गई है। परीक्षा में एक बेंच पर दो परीक्षार्थी बैठेंगे और 20 परीक्षार्थियों पर एक वीक्षक तथा चार वीक्षकों पर एक रिलीवर की प्रतिनियुक्ति की जाएगी। एक कमरे में कम से कम दो वीक्षक की उपस्थिति अनिवार्य की गई है। शुक्रवार को बिहार बोर्ड के परीक्षा नियंत्रक ने राज्य के सभी केंद्राधीक्षकों को परीक्षा संबंधी दिशा-निर्देश दिए हैं। इसमें कहा गया है कि परीक्षार्थियों को केंद्र पर परीक्षा शुरू होने के आधा घंटा पहले तक ही प्रवेश मिलेगा। 28 जनवरी को दो पालियों में परीक्षा होगी। पहली पाली में सुबह 9.30 बजे तथा दूसरी में दोपहर 1.30 बजे तक ही परीक्षा भवन में इंट्री मिलेगी। पहली पाली सुबह 10 से 12.30 बजे तक तथा दूसरी दोपहर 2 से 4.30 बजे तक की हाेगी। पहली पाली में पेपर 1 तथा दूसरी पेपर 2 की परीक्षा होगी। इसमें 150-150 अंकों के बहुवैकल्पिक प्रश्न पूछे जाएंगे। परीक्षा ओएमआर शीट पर ली जाएगी।

ये भी पढ़ें----बिहार के एक BDO ने IAS अधिकारी को दी कड़ी चेतावनी,कहा- आपका आरोप गलत है....अपमानित करना बंद करें,वरना.......

जूता-मोजा की मंजूरी नहीं

परीक्षार्थियों को परीक्षा देने के लिए चप्पल पहनकर आना पड़ेगा। जूता मोजा, घड़ी पहनकर आने के बाद परीक्षा कक्ष में प्रवेश की अनुमति नहीं मिलेगी। बोर्ड ने केंद्राधीक्षकों को इस संबंध में सख्त निर्देश दिए हैं। साथ ही कहा है कि सर्दी के मौसम के कारण कई लेयर में कपड़े पहन कर आ सकते हैं, इसकी बारीकी से जांच की जाएगी। शिक्षक परीक्षार्थियों की तलाशी परीक्षा भवन के गेट के अंदर एवं परीक्षा कक्ष के बाहर करेंगे। वीक्षक यह घोषणा पत्र भी देंगे कि परीक्षार्थी की तलाशी ले ली गई है और उनके पास घड़ी, मोबाइल, इलेक्ट्रॉनिक गैजेट अादि नहीं है। किसी भी परिस्थिति में परीक्षार्थी को घड़ी, बैग, पर्स इत्यादि लेकर परीक्षा कक्ष में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी। लाउडस्पीकर की व्यवस्था कर एनाउंसमेंट करने का निर्देश भी दिया गया है।

37 हजार 335 रिक्त पदों पर होगा नियोजन
नौंवी और 10वीं कक्षा के लिए 25 हजार 270 और 11वीं व 12वीं के लिए 12 हजार 65 रिक्त पदों पर एसटीईटी होगा। यानी कुल 37 हजार 335 खाली पदों पर नियोजन होगा। बिहार बोर्ड की मानें तो विषयवार रिक्तियों पर कोटि एवं अंक के अनुरूप कट ऑफ माक्र्स लाना अनिवार्य होगा। इसमें सामान्य श्रेणी के लिए 50 फीसदी और आरक्षित श्रेणी के लिए 45 फीसदी अंक अनिवार्य हैं।

Find Us on Facebook

Trending News