मानव श्रृंखला में छोटे स्कूली बच्चों को लेकर बड़ा आदेश..जानिए पटना डीएम ने क्या कहा है....

मानव श्रृंखला में  छोटे स्कूली बच्चों को लेकर बड़ा आदेश..जानिए पटना डीएम ने क्या कहा है....

PATNA: मानव श्रृंखला की तैयारी को लेकर पटना डीएम कुमार रवि की अध्यक्षता में आज समाहरणालय स्थित सभा कक्ष में बैठक आयोजित हुई।बैठक में डीएम ने बताया कि दिनांक-19.01.2020 को जल जीवन हरियाली, नशा मुक्ति, बाल विवाह समाप्ति एवं दहेज उन्मूलन विषय पर मानव श्रृृंखला का आयोजन किया जायेगा। 

मानव श्रृंखला में पांचवी तक तक स्कूली बच्चे नहीं होंगे शामिल

मानव श्रृृंखला का आयोजन 11.30 बजे पूर्वाह्न से 12.00 मध्याह्न तक आयोजित है। पटना जिला अंतर्गत 696 किमी0 लम्बाई में मानव श्रृृंखला बनेगा। आयोजित होगा। जिलाधिकारी ने बताया कि वर्ग-I से वर्ग-V तक के बच्चों को मानव श्रृृंखला में शामिल नहीं किया जायेगा। मानव श्रृृंखला गाँधी मैदान, पटना से निकलकर राज्य के विभिन्न कोनों तक जायेगी। इस क्रम में मानव श्रृृंखला गाँधी मैदान से निकलकर विभिन्न दिशाओं में समीपवर्ती जिलों की सीमा तक जाकर संबंधित जिले के श्रृृंखला से मिलेगी एवं इसी प्रकार आगे तक चलती जायेगी।

जिलाधिकारी ने बताया कि मानव श्रृृंखला कार्यक्रम का केन्द्र बिन्दु एवं मुख्य कार्यक्रम स्थल स्थानीय गाँधी मैदान, पटना है। गाँधी मैदान में मानव श्रृृंखला से बिहार का नक्शा का निर्माण होगा एवं इसी श्रृृंखला से 4 श्रृृंखलायें निकलकर राज्य के विभिन्न क्षेत्रों की ओर जायेगी। पटना जिला में मेन रूट पर 167 कि0मी0, सब रूट पर 256 कि0मी0 एवं अन्य मार्गों पर 273 कि0मी0 कुल 696 कि0मी0 की लम्बाई में मानव श्रृृंखला का निर्माण किया जाना है। 

पटना जिलान्तर्गत मानव श्रृृंखला हेतु कुल 696 कि0मी0 की दूरी के लिए कुल 696 सेक्टर इंचार्ज एवं 3480 समन्वयक नियुक्त किए जायेंगे। साथ ही प्रत्येक सेगमेंट के लिए मानव बल की पहचान संबंधित अनुमंडल पदाधिकारी एवं प्रखंड विकास पदाधिकारी द्वारा की जायेगी।

 जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि सभी अनुमंडल पदाधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचल अधिकारी, शिक्षा विभाग के प्रखंड स्तरीय पदाधिकारी, शिक्षा विभाग अपने क्षेत्र में मानव श्रृृंखला के सम्बन्ध में वातावरण निर्माण हेतु जिम्मेवार होंगे। उक्त क्रम में जिला, अनुमंडल, प्रखंड, पंचायत एवं गाँव स्तर पर जन जागरण साइकिल, मोटर साइकिल रैलियाँ, पदयात्रा, ई-रिक्शा से प्रचार, खेलकूद प्रतियोगिता, नुक्कड़ नाटक आदि विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताएँ आयोजित की जाएँगी, ताकि आम जन मानव श्रृृंखला के उद्देश्य से अवगत हो सके। उक्त क्रम में अन्तर विद्यालय पेंटिंग, स्पीच, निबंध लेखन आदि प्रतियोगिताएँ भी आयोजित की जाएँगी।

वातावरण निर्माण का कार्य 05.12.2019 से जो 18.01.2020 तक किया जायेगा। सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी अग्रिम रूप से तैयार किये जाने वाले पंचायतवार कार्यक्रमों का कैलेण्डर के अनुरूप कार्रवाई करेंगे। सभी अनुमंडल पदाधिकारी एवं जिला/अनुमंडल स्तर के वरीय पदाधिकारी इसका अनुश्रवण करेंगे।

 बैठक में जिलाधिकारी ने बताया कि मानव श्रृृंखला में काफी बड़ी संख्या में महिलाएँ, स्कूली बच्चे, अधिक उम्र के व्यक्ति भाग लेंगे। उक्त अवसर पर किसी विपरीत परिस्थिति से निपटने हेतु सिविल सर्जन  एम्बुलेंस की प्रतिनियुक्ति चिकित्सा कर्मियों के साथ करेंगे। साथ ही इन एम्बुलेंस को नजदीक के प्राथमिक स्विास्थ्य केन्द्र, अस्पताल से सम्बद्ध भी किया जायेगा।

 जिलाधिकारी ने बताया कि मानव श्रृृंखला कार्यक्रम के दौरान काफी संख्या में वर्ग-6 एवं उसके ऊपर के स्कूली बच्चे, महिलायें, सरकारी एवं गैर सरकारी कर्मचारी, पदाधिकारी, जन प्रतिनिधिगण एवं आमजन की उपस्थिति रहेगी। उक्त अवसर पर समुचित पेयजल व्यवस्था आवश्यक है। इसके लिए सभी अनुमंडल पदाधिकारी एवं प्रखंड विकास पदाधिकारी मानव श्रृृंखला के रूट के निकट अवस्थित विद्यालय, सरकारी कार्यालयों, अन्य सरकारी/निजी संस्थाओं से समन्वय कर पेयजल व्यवस्था सुनिश्चित कराया जायेगा। 

बैठक में जिलाधिकारी ने  नगर आयुक्त, पटना नगर निगम को निर्देश दिया कि  पटना शहर के अन्य क्षेत्रों में पेयजल हेतु टैंकरों की व्यवस्था संबंधित कार्यपालक पदाधिकारियों के माध्यम से करायेंगे।  पुलिस अधीक्षक यातायात को निर्देश दिया कि आयोजित होने वाले मानव श्रृृंखला को ध्यान में रखते हुए ट्रैफिक प्लान तैयार करें। 

 बैठक में जिलाधिकारी ने अपर जिला दण्डाधिकारी को निर्देश दिया कि विधि-व्यवस्था एवं प्रभारी पदाधिकारी जिला नियंत्रण कक्ष को निर्देश दिया कि मानव श्रृृंखला के अवसर पर विधि-व्यवस्था संधारण सुनिश्चित करेंगे। सभी अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अपने-अपने क्षेत्र में विधि-व्यवस्था संधारण हेतु अपने स्तर से दंडाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी, पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति के साथ एवं अन्य  आवश्यक व्यवस्थाएँ भी सुनिश्चित कराया जायेगा। 

जिलाधिकारी ने बताया कि मानव श्रृृंखला कार्यक्रम की सफलता हेतु सतत् अनुश्रवण आवश्यक है। इस हेतु प्रत्येक प्रखंड को जोन में बांटा जायेगा एवं प्रत्येक जोन के लिए जोन प्रभारी के रूप में पदाधिकारी को नामित किया जायेगा। शहरी क्षेत्र में कार्यक्रम की तैयारी की माॅनिटरिंग हेतु जोन का गठन होगा। प्रत्येक जोन पर जोनल पदाधिकारी नामित किया जायेगा। अपर जिला दंडाधिकारी स्तर के पदाधिकारियों को वरीय पदाधिकारी के रूप में प्रतिनियुक्त किया जायेगा तथा उनके साथ पुलिस उपाधीक्षक स्तर के पदाधिकारियों, वरीय उप समाहत्र्ता स्तर के पदाधिकारी एवं शिक्षा विभाग के पदाधिकारियों एवं नगर निगम के पदाधिकारियों को प्रतिनियुक्त किया जायेगा

Find Us on Facebook

Trending News