दो साल बाद बिहार के सभी रूटों की बसों में 25 फीसदी बढ़ा किराया, फेडरेशन की बैठक में हुआ फैसला

दो साल बाद बिहार के सभी रूटों की बसों में 25 फीसदी बढ़ा किराया, फेडरेशन की बैठक में हुआ फैसला

पटना। बढ़ते डीजल की कीमत के बाद बिहार मोटर ट्रांसपोर्ट फेडरेशन ने बिहार के विभिन्न जिलों या अन्य राज्य में आने-जाने लिए बसों के किराए में करीब 25 फीसदी की बढ़ोतरी करने का निर्णय लिया है। इस संबंध में फेडरेशन की बैठक में निर्णय लिया गया। फेडरेशन के अनुसार आगामी 14 मार्च की मध्य रात्रि से सभी जिलों में आने वाली बसों के किराए में वृद्धि की जाएगी।

2018 के बाद सूबे में बढ़ेगा किराया

 इससे पहले 2018 में कुल जिलों में ही बसों के किराए में 25% बढ़ोतरी हुई थी लेकिन इस बार सभी जिलों के लिए बस के किराया बढ़ाने का फैसला लिया गया है। बताया गया कि 2018 से लेकर अब तक करीब ₹20 प्रति लीटर महंगा हो गया है इसके अलावा टैक्स, टोल प्लाजा, चेचिस परमिट शुल्क, इंश्योरेंस, मोटर पार्ट्स, टायर, बैटरी पर शुल्क भी बढ़ गया है। जिसके कारण यह फैसला लिया गया है फेडरेशन के अध्यक्ष ने कहा कि किराए में वृद्धि की जानकारी सरकार को पत्र के माध्यम से दी जाएगी इस बारे में सोमवार को मुख्यमंत्री परिवहन मंत्री परिवहन सचिव प्रमंडलीय आयुक्त सहित अन्य पदाधिकारी को ई-मेल भेजा जाएगा

सरकार की अधिसूचना जारी करने की मांग बिहार ट्रांसपोर्ट फेडरेशन ने सरकार से 10 मार्च तक सभी जिलों के बस स्टैंड में स्केच आर्ट लगाने के निर्देश दिए हैं हालांकि परिवहन विभाग की ओर से इसकी अनुमति नहीं मिली है फेडरेशन के अध्यक्ष का कहना है कि विभाग को 13 मार्च का समय दिया गया है अगर सरकार इस संबंध में अधिसूचना जारी नहीं करती है तो 14 की मध्यरात्रि से नए किराए के साथ बसों का संचालन किया जाएगा।

ट्रकों में बढ़ेगा 30 फीसदी किराया

जहां बसों के किराए में 25 फ़ीसदी की बढ़ोतरी करने का फैसला लिया गया है वहीं ट्रक एसोसिएशन ने भी ट्रकों के किराए में 30% वृद्धि करने का फैसला लिया है जिसको लेकर फिलहाल विचार विमर्श किया जा रहा है।

Find Us on Facebook

Trending News