सिंचाई कर्मी की पुलिस कस्टडी में हुए मौत पर इंसाफ की मांग को लेकर परिजनों के साथ सभी विपक्षी दल, दिया धरना

सिंचाई कर्मी की पुलिस कस्टडी में हुए मौत पर इंसाफ की मांग को लेकर परिजनों के साथ सभी विपक्षी दल, दिया धरना

BHAGALPUR :  भागलपुर के बरारी थाना क्षेत्र के मायागंज निवासी और लघु जल संसाधन विभाग बांका में लिपिक पद पर कार्यरत संजय यादव कि पुलिस कस्टडी में हुये मौत के बाद जहां लोगों में आक्रोश देखा जा रहा है, वहीं  विपक्षी पार्टियां पुलिसिया कार्रवाई के खिलाफ गोलबंद होकर संजय यादव के परिजनों के साथ भागलपुर के समाहरणालय के समीप पुलिस की कार्रवाई के खिलाफ इंसाफ की मांग को लेकर एक दिवसीय धरना दिया।

 कांग्रेस के जिलाध्यक्ष परवेज जमाल, राजद जिलाध्यक्ष चंद्रशेखर यादव के नेतृत्व में भाकपा माले सहित कई विपक्षी पार्टियों के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने धरना में भाग लिया और नेताओं ने धरना स्थल पर सभा को संबोधित करते हुए कहा कि पुलिस ने बर्बरता के साथ सिंचाई कर्मी संजय यादव के गले में पड़े गमछे के सहारे खींचते हुए मारपीट कर थाना ले गई, जिससे थाना के अंदर संजय यादव के हालत खराब हो गई है और उसके बाद उसकी मौत हो गई, इसको लेकर सिटी एएसपी पूरन झा और बरारी के तत्कालीन थाना प्रभारी प्रमोद शाह पर हत्या का मुकदमा दर्ज होना चाहिए साथ ही दोनों की गिरफ्तारी और दोनों को जेल भेजा जाना चाहिए। विपक्षी पार्टी के नेताओं ने कहा कि जब तक ऐसा नहीं होता है तब तक उनका आंदोलन जारी रहेगा।

स्पेशल टीम करे मामले की जांच

 संजय यादव की पुलिस कस्टडी में हुई मौत के बाद आए पोस्टमार्टम रिपोर्ट में नेचुरल डेथ करार दिए जाने से आक्रोशित नेताओं ने इस पूरे प्रकरण की जांच स्पेशल टीम से भी कराए जाने की मांग की, संजय यादव को इंसाफ दिलाए जाने की मांग को लेकर आयोजित धरना के दौरान उनकी पत्नी और बेटी भी धरना में शामिल हुई।

गौरतलब है कि मामले में गोपालपुर विधायक गोपाल मंडल ने भी खुलेआम इस मौत के लिए पुलिस को जिम्मेदार ठहराया था। उन्होंने साफ कहा था तमाम पुलिसकर्मी नशे में धुत होकर ड्यूटी करते हैं और उन्होंने ही पुलिस कस्टडी में सिंचाईकर्मी की पिटाई की थी, जिससे उसकी मौत हो गई।

Find Us on Facebook

Trending News