BIHAR NEWS: मतगणना में हेराफेरी का आरोप लगाकर हारने वाले प्रत्याशियों ने काटा बवाल, मुख्य सड़क जामकर किया प्रदर्शन

BIHAR NEWS: मतगणना में हेराफेरी का आरोप लगाकर हारने वाले प्रत्याशियों ने काटा बवाल, मुख्य सड़क जामकर किया प्रदर्शन

BAGAHA: बगहा दो प्रखंड के मतगणना मंगलवार को सम्पन्न हो गया। इसमें नयागांव रामपुर पंचायत के मतगणना में हेराफेरी का आरोप लगाते हुए नयागांव रामपुर पंचायत की मुखिया प्रत्याशी किरण देवी के समर्थकों ने आक्रोश मार्च निकालकर चुनाव परिणाम को रद्द कर पनर्मतदान या रिकाउंटिंग की मांग की। 

बुधवार की सुबह किरण देवी के समर्थकों का आक्रोश मार्च नयागाँव से निकल कर रामपुर चौक पर पहुंचा। इस दौरान रैली में शामिल सैकड़ों की संख्या में महिला, पुरुष तथा बच्चे बिहार सरकार व निर्वाचन आयोग के विरोध में नारेबाजी की। रामपुर चौक से वापस आकर नयागांव मोड़ पर कुछ देर के लिए एनएच 727 को जाम करते हुए नारेबाजी की। इस दौरान कुछ समय के लिए दोनों तरफ से सवारियों की आवागमन ठप रहा। हालांकि कुछ देर बाद मुखिया प्रत्याशी किरण देवी के मना करने पर समर्थकों ने जाम को हटाया। तथा नयागांव स्थित किरण देवी के आवास पर पहुंचे। थोड़ी देर बाद एसडीपीओ रामनगर सत्यनारायण राम तथा लौकरिया थानाध्यक्ष राजकुमार दल बल के साथ किरण देवी के दरवाजे पर पहुंचे। प्रत्याशी को समझाया कि इस तरह के प्रदर्शन से कोई लाभ नहीं होगा। नियमानुसार कार्य करने की सलाह देते हुए विवाद शांत कर शांतिपूर्ण माहौल कायम रखने की अपील की। 

विदित हो की त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में नयागांव रमपुरवा पंचायत से वर्तमान मुखिया आशा देवी तथा मुखिया प्रत्याशी किरण देवी में कांटे की टक्कर थी। 24 अक्टूबर को चुनाव हुई थी जिसकी गिनती 26 अक्टूबर  मंगलवार की देर शाम जिला मुख्यालय में की गई। गिनती के पश्चात निवर्तमान मुखिया आशा देवी 35 वोट के अंतर से विजयी हुई जिस पर किरण देवी के द्वारा रिकाउंटिंग की मांग की गई हालांकि काउंटिंग अधिकारियों के द्वारा इस मांग को ठुकरा दिया गया और केवल 5 बूथों की रिकाउंटिंग की गई और आशा देवी को पुनः विजयी घोषित कर दिया गया। इसकी सूचना मिलते हीं किरण देवी के समर्थक आक्रोशित हो गए। जिसका नतीजा हुआ कि बुधवार के सुबह सैकड़ों की संख्या में किरण देवी के समर्थकों द्वारा मुख्य सड़क पर नारेबाजी की गई। 

प्रदर्शन में शामिल समर्थकों ने बताया कि जिला मुख्यालय में 26 अक्टूबर को हुई मतगणना में काफी धांधली की गई है। मतों की गिनती में काफी हेराफेरी की गई है। जिससे लोकतंत्र की हत्या के साथ चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर भी सवाल खड़ा हो गया है। आक्रोशित मतदाताओं ने बताया कि मतगणना में शामिल अधिकारियों के कारण लोकतंत्र शर्मशार व कलंकित हो गया है। हमारी मांग है की या तो दोबारा चुनाव की जाए नहीं तो दोबारा मतगणना हो।

Find Us on Facebook

Trending News