एमडीएम में बड़ा घोटाला, फर्जी सिग्नेचर कर 800 क्विंटल अनाज की कर दी काला बाजारी, थाने पहुंचा मामला

एमडीएम में बड़ा घोटाला, फर्जी सिग्नेचर कर 800 क्विंटल अनाज की कर दी काला बाजारी, थाने पहुंचा मामला

KATIHAR : कटिहार में मध्याह्न भोजन के अनाज में 800 क्विंटल की हेरा-फेरी का एक बड़ा मामला सामने आया है,बारसोई प्रखंड से जुड़े इस मामले में प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी के आवेदन पर संवेदक गोपाल प्रसाद मंडल पर मामला दर्ज कराया गया है, वही शिक्षा विभाग इस मामले में जहां आगे कार्यवाही में जुटी हुई है, पुलिस भी मामला दर्ज कर जांच की बात कह रहे हैं। फिलहाल शिक्षा विभाग में बच्चों के खाने को लेकर हुए इस बड़े घोटाले के बाद अधिकारियों में हड़कंप मच गया गया है

कटिहार जिले के सुदूर प्रखंड बारसोई में पिछले साल विद्यालय बंद रहने के दौरान मध्याह्न भोजन से जुड़ी अनाज गवन का एक बड़ा खेल खेला गया है, लगभग 800 क्विंटल के अनाज गबन में आरोप है किस संवेदक गोपाल प्रसाद मंडल ने शिक्षा विभाग के साधन सेवी शिव शंकर  पासवान के फर्जी सिग्नेचर कर अनाज का उठाव कर लिया है और कालाबाजारी कर दिया है। शिक्षा विभाग के माने तो साधन सेवी और संवेदक के संयुक्त सिग्नेचर से ही मध्याह्न भोजन योजना का अनाज का उठाव होता है। लेकिन साधन सेवी द्वारा सिग्नेचर नहीं करने के बावजूद उसके नाम पर फर्जी सिग्नेचर कर संवेदक ने इस खेल को रचा है।

जिलाधिकारी ने लिया संज्ञान

मामला सामने आने के बाद जिलाधिकारी के आदेश पर बारसोई प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी मुमताज अहमद के आवेदन पर बारसोई थाना में संवेदक गोपाल प्रसाद मंडल पर मामला दर्ज कराया गया है,उधर इस घोटाले के बाद विपक्ष भी हमलावर है राजद के जिला अध्यक्ष ने कहा कि इस खेल में कोई और बड़े लोगों की सम्मिलित होने की आशंका है, इसीलिए इस मामले की गंभीरता से जांच होनी चाहिए।

संपत्ति नीलाम कर वसूलेंगे रकम

उधर शिक्षा विभाग से जुड़े इस मामले  पर विभाग भी गंभीर है, जिला शिक्षा पदाधिकारी पूरे मामले पर जानकारी देते हुए कहते हैं कि पूरा मामला जिला अधिकारी के संज्ञान में है और जांच के बाद अगर जरूरत पड़े तो नीलाम पत्र दायर कर 25 लाख से अधिक राशि की वसूली संवेदक से किया जाएगा,इसके अलावा उनको ब्लैक लिस्टेड भी किया जाएगा।

मध्यान भोजन के अनाज घोटाला के कई मामला है इससे पहले भी आते रहा है लेकिन यह मामला अपने आप में इसलिए भी खास हैं क्योंकि लगभग 800 क्विंटल अनाज से जुड़ा यह मामला है हालांकि शिक्षा विभाग जो गंभीरता के दावा कर रहे हैं उस जांच का नतीजा है किस रूप में सामने आएगा यह तो वक्त ही बता पाएगा।

Find Us on Facebook

Trending News