BIHAR NEWS: सीएम का ड्रीम प्रोजेक्ट बेहाल, जिस पंचायत से 5 साल पहले की थी शुरूआत, वहां अब पेयजल की भारी किल्लत

BIHAR NEWS: सीएम का ड्रीम प्रोजेक्ट बेहाल, जिस पंचायत से 5 साल पहले की थी शुरूआत, वहां अब पेयजल की भारी किल्लत

MOTIHARI: सीएम ने ड्रीम प्रोजेक्ट ‘नलजल योजना’ का शुभारंभ जिस नगर पंचायत से किया था, उस नगर पंचायत में 5 वर्ष बीतने के बाद भी प्रशासनिक लापरवाही के कारण आजतक 14 में 11 वार्ड वासियों को ड्रीम प्रोजेक्ट नलजल से शुद्ध पेयजल नही मिल सका। इतना ही नहीं, प्रशासनिक पदाधिकारियों के नलजल का कार्य पूरा होने की रिपोर्ट पर 18 अगस्त को सीएम द्वारा रिमोर्ट से नलजल का उद्घाटन भी कर दिया गया। हालांकि धरातल पर नलजल योजना कुछ अलग ही बयां कर रहा है। नगरवासियों की मानें तो प्रशासनिक मिलीभगत से नलजल योजना लूट खसोट व कागजी खाना पूर्ति बनकर रह गया है। सीएम द्वारा नलजल योजना की प्रथम चरण की शुरुआत के दूसरे दिन 8 नवम्बर 2016 को पूर्वी चंपारण जिला के अरेराज नगर पंचायत के वार्ड 03 में नलजल योजना का शुरुआत किया गया था।

सीएम के ड्रीम प्रोजेक्ट के प्रति उनके पदादिकारी कितने एक्टिव है, यह साफतौर पर मोतिहारी के अरेराज नगर पंचायत में देखने को मिल रहा है। सीएम के नलजल योजना की शुरुआत करने के 5 वर्ष वितने के बाद मात्र 14 वार्ड में नलजल योजना से नगर वासियों को नल से शुद्ध पेयजल नही मिल सका। प्रसिद्ध मनोकामना पूरक पंचमुखी बाबा सोमेश्वर नाथ महादेव मंदिर होने के कारण मेला में लाखों श्रद्धालु आते है साथ नगर वासी शुद्ध पेयजल के लिए आज भी तरसते हैं। मोतिहारी जिला के अरेराज नगर पंचायत में 14 वार्ड है। जिसमे वार्ड 03 में पीएचईडी के बने टंकी से पानी सप्लाई होती है। वहीं वार्ड 11 व 12 में नलजल की टंकी पूर्ण है। बाकी वार्ड 01,02,05,06,07,08,09,10,13 व 14 में जलमीनार कही अधूरा है तो कही अभी अभी काम की शुरुआत किया गया है। वहीं वार्ड 04 व 05 में टंकी बनाने का कार्य अभी शुरू भी नहीं हुआ है। नगर वासियों का कहना है कि नलजल का कार्य घटिया स्तर से होने के कारण नलजल जांच के लिए पानी छोड़ने के दौरान ही कई वार्ड में पानी का प्रेशर पाइप वर्दस्त नही करने के कारण फट गया था। प्रशासनिक व संवेदक के मिलीभगत से नलजल योजना लूट योजना बनकर रह गया है। इसकी उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए। वहीं जिस स्थान से सीएम द्वारा अपने ड्रीम प्रोजेक्ट का शुरुआत किया गया। उसकी हालत इतनी खराब तो अन्य स्थान के हाल की कल्पना की जा सकती है।

18 अगस्त 2020 को मुख्यमंत्री द्वारा रिमोट के माध्यम से नगर पंचायत के नलजल योजना का शुभारंभ भी कर दिया गया। नगर पंचायत में नलजल का कार्य इतने कछुए गति से चला कि सीएम के 5 वर्ष पूर्व शुभारम्भ व उद्घाटन के 9 माह बाद भी 14 में मात्र 3 वार्ड में नलजल की सुबिधा बहाल हुई। सूत्रों की माने तो नलजल योजना की प्रति महीने महीने वरीय पदादिकारी के नेतृत्व में समीक्षा बैठक होती है। संवेदक पर करवाई का प्रस्ताव भी पास होता है। सभी लोग मिठाई खाकर बैठक के बाद फाइल में बंद हो जाता है। नगर वासियों की माने तो जब नगर पंचायत में नलजल की योजना शुरू भी नही हुआ तो आखिर किस पदादिकारी के कागजी रिपोर्ट पर उसका उद्घाटन कर लिया गया। नलजल योजना की जांच किया जाए तो बड़ी गड़बड़ी से इंकार नही किया जा सकता। नगर पंचायत कार्यपालक पदाधिकारी संदीप कुमार ने बताया कि वार्ड 03,11 व 12 में नलजल योजना चालू है। एक दो दिन में वार्ड 13 व 14 में चालू कर दिया जाएगा। बाकी वार्डों के लिए समय का निर्धारण किया गया है। वार्ड 04 में टेंडर कैंसिल होने व वार्ड 05 में टंकी बनाने के लिए जमीन का एनओसी से परेशानी हुई है। उसे पूरा कर जल्द ही सभी वार्डो में नलजल योजना का लाभ नगर वासियों को मिलने लगेगा।

Find Us on Facebook

Trending News