BIHAR NEWS: कांग्रेस की मांग, आमजन के लिए खोला जाये विष्णुपद मंदिर, पितृपक्ष मेले के आयोजन की तैयारी के दिये जाये आदेश

BIHAR NEWS: कांग्रेस की मांग, आमजन के लिए खोला जाये विष्णुपद मंदिर, पितृपक्ष मेले के आयोजन की तैयारी के दिये जाये आदेश

गया: कांग्रेस पार्टी के नेता, कार्यकर्ता एवं स्थानीय गयावाल पंडा समाज के लोगों ने विष्णुपद मंदिर प्रांगण में शांतिपूर्ण कोरोनावायरस गाइड लाइन का पालन करते हुए राज्य सरकार से अगले अनलॉक यानी 07 जुलाई से विश्व प्रसिद्ध विष्णुपद मंदिर आमजन के लिए खोलने एवं इस वर्ष सितंबर माह से शुरू होने वाले पितृपक्ष मेला 2021 के आयोजन की तैयारी शुरू करने की मांग की है। 

अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के सदस्य सह क्षेत्रीय प्रवक्ता प्रो विजय कुमार मिठू, वार्ड पार्षद प्रतिनिधि शशि किशोर शिशु, कर्मकांडी संघ के प्रदेश अध्यक्ष दिपुलाल भैया, गोस्वामी पांडेय समाज के अध्यक्ष दामोदर गोस्वामी, जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष युगल किशोर सिंह, बाबूलाल प्रसाद सिंह, राम प्रमोद सिंह, अशोक सिंह, जिला कांग्रेस महासचिव विद्या शर्मा, सकलदेव चंद्रवंशी, ब्रजेश राय, सेवादल के प्रदेश महासचिव अमरजीत कुमार, जिला मुख्य संगठक टिंकू गिरी, विनोद उपाध्याय, अरुण कुमार पासवान, सुरेन्द्र मांझी, श्रवण पासवान आदि ने कहा कि कोरोना में लॉक डाउन के कारण विश्व प्रसिद्ध विष्णुपद मंदिर लगभग डेढ़ वर्षों से आमजन के दर्शन एवं पूजापाठ के लिए बंद है, तो दूसरी ओर सन् 2020 पितृपक्ष मेला का भी आयोजन नहीं होने से मोक्ष नगरी गया में विश्व के कोने, कोने से पिंडदान करने हेतु आने वाले लोगों के नहीं आने से गयावाल पांडेय परिवार की आर्थिक स्थिति काफी दयनीय हो गई है। 

नेताओं ने कहा कि क्योंकि इसी पितृपक्ष मेला की आमदनी से गया के हजारों पांडेय परिवार के साथ यहां सामान बेचने वालों की जीविका चलती है। इस बार पितृपक्ष मेला का आयोजन सितम्बर माह से शुरू होने वाला है, जिसकी तैयारी राज्य सरकार एव स्थानीय प्रशासन अविलंब शुरू करें , ताकि हिन्दू धर्मावलंबियों द्वारा पिंडदान कर्मकांड आदि हो सके तथा हजारों पांडेय परिवार सहित समान बेचने एवं अन्य व्यापारियों का जीविकोपार्जन चल सके। उन्होंने यह भी कहा कि जब कोरोना वायरस के दूसरे भयावह लहर में कुंभ मेले का आयोजन हुआ है तो इस बार विश्व स्तरीय पितृपक्ष मेला का आयोजन जरूर की जाये, नहीं तो कई परिवार भुखमरी के शिकार हो जाएंगे तथा मोक्ष की कामना एवं पिंडदान करने वाले लाखों हिन्दू धर्मावलंबियों के आस्था पर भी घात लगेगा।


Find Us on Facebook

Trending News