BIHAR NEWS: जिलाधिकारी ने किया राष्ट्रीय पोषण माह का शुभारंभ, जनभागीदारी से कुपोषण को मिटाने का रखा लक्ष्य

BIHAR NEWS: जिलाधिकारी ने किया राष्ट्रीय पोषण माह का शुभारंभ, जनभागीदारी से कुपोषण को मिटाने का रखा लक्ष्य

KHAGARIA: जिलाधिकारी डॉ आलोक रंजन घोष द्वारा समाहरणालय परिसर में गुब्बारे उड़ाकर राष्ट्रीय पोषण माह का शुभारंभ किया गया। इस अवसर पर उपस्थित लोगों ने कुपोषण को मिटाने के लिए शपथ भी लिया। जिला प्रोग्राम कार्यालय द्वारा इस पोषण माह में विभिन्न कार्यक्रमों का सप्ताहवार आयोजन किया जाएगा।

सुपोषित भारत की परिकल्पना को लक्षित राष्ट्रीय पोषण माह का मुख्य उद्देश्य जन-आंदोलन और जन भागीदारी से कुपोषण को मिटाना है। इसी लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए प्रति वर्ष सितम्बर माह को राष्ट्रीय पोषण माह के रूप में मनाया जाता है। विभिन्न विभागों के समन्वय से होने वाले पोषण माह में महिला बाल विकास नोडल विभाग की भूमिका निभाएगा। इस वर्ष पोषण माह की थीम ‘‘कुपोषण छोड़ पोषण की ओर-थामे क्षेत्रीय भोजन की डोर’’ है। प्रदेश स्तर पर इस वर्ष भी पोषण माह के दौरान विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया जायेगा। राष्ट्रीय पोषण माह के दौरान आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशा एवं ए.एन.एम. द्वारा गृहभेंट/सर्वे कर 6 वर्ष से कम उम्र के बच्चों की ऊंचाई एवं वजन लेने का अभियान चलाया जाएगा। पोषण माह के चार सप्ताह चार अलग-अलग थीम पर निर्धारित किए गए है। सितम्बर के पहले सप्ताह में पोषण वाटिका एवं पौध-रोपण थीम के तहत आँगनवाड़ी केन्द्रों, स्कूलों, पंचायत भवन अन्य सार्वजनिक स्थल पर पोषण वाटिका के माध्यम से पौध रोपण, किचन गार्डन तथा संबंधित कैम्पस एवं भवन परिसर में न्यूट्री गार्डन को बढ़ावा देना, गर्भवती महिलाओं के लिए पोषण आहार संबंधी स्लोगन प्रतियोगिता, आँगनवाड़ी केन्द्रों के लिए पोषण वाटिका प्रतियागिता का आयोजन होगा। 

इसके अलावा कैम्प लगाकर स्वच्छता एवं कोविड टीकाकरण के सबंध में दो दिवसीय संवेदीकरण व जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन होगा।दूसरे सप्ताह में 8 से 15 सितम्बर तक पोषण के लिए योग एवं आयुष का उपयोग थीम के तहत आयुष पद्धति का पोषण के लिये जागरूकता अभियान, गर्भवती महिलाओं, स्कूल के बच्चों एवं किशोरियों के लिए योगाभ्यास, सरकारी एवं व्यवसायिक संस्थानों में पाँच मिनट का योगा प्रोटोकाल सत्र, महिलाओं एवं बच्चों के लिए फ्री ऑनलाईन योग कोर्स, गर्भावस्था के दौरान एनीमिया के लिए आयुष-आँगनवाड़ी कार्यकर्ता का प्रशिक्षण तथा गर्भवती महिलाओं के लिए पोषण की रेसिपी प्रतियोगिता का आयोजन होगा।

राष्ट्रीय पोषण माह के तीसरे सप्ताह 16 से 23 सितम्बर तक जिले के हितग्राहियों को न्यूट्रीशियन किट एवं आई.ई.सी. जागरूकता संबंधी सामग्री का वितरण किया जाएगा। चौथे सप्ताह 24 से 30 सितम्बर तक अति गंभीर कुपाषित बच्चों का चिन्हांकन, पोषण भोजन का वितरण, कुपोषित बच्चों के चिन्हांकन के लिए समुदाय का संवेदीकरण, गर्भवती माताओं के लिए प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता तथा बच्चों के कुपोषण पर केन्द्रित ई-क्विज प्रतियोगिताएं आयोजित होगी।

Find Us on Facebook

Trending News