Bihar : बंद हुई पढ़ाई, अब सरकार ने स्कूलों में खाली समय बिता रहे शिक्षकों को दी यह जिम्मेदारी

Bihar : बंद हुई पढ़ाई, अब सरकार ने स्कूलों में खाली समय बिता रहे शिक्षकों को दी यह जिम्मेदारी

PATNA : कोरोना के कारण सभी निजी और सरकारी स्कूल बंद है। ऐसे में सरकारी स्कूलों के शिक्षकों के पास फिलहाल कोई काम नहीं है वह हर दिन स्कूल आते और समय बिता कर चले जाते हैं। अब इन खाली बैठे शिक्षकों के लिए सरकार ने नया काम खोज लिया। इन शिक्षकों को विद्यार्थियों के लिए संचालित योजनाओं में खर्च की गई राशि का ब्यौरा जुटाने को कहा गया है। इस संबंध में सभी जिला पदाधिकारियों को निर्देश जारी कर दिया गया है। 

इस निर्देश में कहा गया है कि अभी कोरोना के कारण विद्यालयों में पढ़ाई नहीं हो रही है । शिक्षकों से इस अवधि में सभी प्रकार की योजना की लंबित उपयोगिता और सार विपत्र (एसी, डीसी) के समायोजन को प्राथमिकता पूर्ण कराना सुनिश्चित किया जाए। वित्तीय वर्ष 2002 से अद्यतन व्यय की गई एक-एक योजना की उपयोगिता एवं डीसी विपत्र सांमजीत लिया जाए। इसके लिए शिक्षकों को डेडलाइन भी दी गई है। भागलपुर, पूर्णिया और दरभंगा प्रमंडल के जिलों को 26 अप्रैल तक, उसी तरह कोसी कोशी, मगध और पटना को 27 अप्रैल तक और सारण, तिरहूत और मुंगेर प्रमंडल को 28 तक सारी जानकारी उपलब्ध कराने के लिए कहा गया है।

प्राथमिक निदेशक ने सभी डीईओ डीपीओ योजना लेखा स्थापना को भेजे निर्देश में कहा है कि बार-बार ने देश के बावजूद भी अभी जिलों में विभिन्न योजना में 2002 से व्यय की गई राशि की उपयोगिता प्रमाण पत्र तथा भवन, उपस्कर प्रयोगशाला, परिभ्रमण इत्यादि मदों का एसी विपत्र निकासी की गई राशि का डीसी विपत्र सामंजन लंबित है। इन सभी योजनाओं की उपयोगिता एवं डीसी विपत्र लंबित रहने के कारण आगे की योजनाओं की राशि की निकासी में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है

Find Us on Facebook

Trending News