BIHAR NEWS: आठ साल पहले बीडीओ को दी थी गाली, अब चल गयी नौकरी, आखिर डीएम ने क्यों उठाया ऐसा कदम। पूरी रिपोर्ट

BIHAR NEWS: आठ साल पहले बीडीओ को दी थी गाली, अब चल गयी नौकरी, आखिर डीएम ने क्यों उठाया ऐसा कदम। पूरी रिपोर्ट

रोहतास: जिलाधिकारी धर्मेंद्र कुमार ने रोहतास प्रखंड कार्यालय के लिपिक मनोज कुमार को बर्खास्त कर दिया है। लिपिक पर कर्तव्यहीनता व वित्तीय अनियमितता के आरोप थे। डीएम द्वारा यह कार्रवाई लिपिक द्वारा सौंपे गए स्पष्टीकरण जवाब से असंतुष्ट व कार्यवाही संचालन पदाधिकारी के प्रतिवेदन के आलोक में की है।

2013 का है ये मामला

दरअसल लिपिक के खिलाफ यह कार्रवाई 2013 के एक मामले से जुडा हुआ है। तब लिपिक के ऊपर यह आरोप लगा था कि उन्होंने विक्रमगंज में लिपिक रामेश्वर प्रसाद सिंह को नजारत का प्रभार नहीं सौंपने तथा बीडीओ के साथ मारपीट व गाली-गलौज की थी। डीएम ने बताया कि बिक्रमगंज में कार्यरत लिपिक मनोज कुमार को नजारत का प्रभार रामेश्वर प्रसाद सिंह को सौंपने का आदेश दिया गया था, लेकिन उनके द्वारा संबंधित लिपिक को प्रभार समय पर नहीं सौंपा गया। जब उनसे स्पष्टीकरण पूछा गया तब उन्होंने केवल चेकबुक का प्रभार सौंपा। 

25 अप्रैल 2013 को लिपिक ने वहां के बीडीओ के साथ मारपीट व गाली-गलौज भी की। इतना ही नहीं, गलत विपत्र द्वारा सरकारी राशि का गबन भी किया गया है। 26 अप्रैल 2013 को तत्कालीन एसडीएम द्वारा दी गयी सूचना के आलोक में कार्यपालक दंडाधिकारी पुरुषोत्तम सिंह के माध्यम से पूरे मामले की जांच करायी गयी, जिसमें सारे आरोप सही पाये गये थे। जिसके बाद सात मई 2013 को लिपिक को निलंबित कर दिया गया गया था। इसके बाद लिपिक से प्रथम व द्वितीय स्पष्टीकरण भी पूछा गया लेकिन जवाब संतोषजनक नहीं रहा। 

18 जुलाई 2013 को विक्रमगंज एसडीएम द्वारा आरोप पत्र गठित कर अनुशासनिक कार्रवाई की अनुशंसा की गयी थी, जिसमें लिपिक में राजपुर के सुधा मिष्ठान भंडार को राशि भुगतान में गड़बड़ी की भी बात कही गई है। लिपिक पर आरोपों की जांच व सुनवाई के लिए तत्कालीन अपर समाहर्ता रामशंकर सिंह के नेतृत्व में कार्यवाही संचालन समिति गठित की गई, जिसमें बिक्रमकगंज बीडीओ को उपस्थापन पदाधिकारी नामित किया गया था।

Find Us on Facebook

Trending News