BIHAR NEWS: इंडियन आर्थोपेडिक असोशिएसन की अच्छी पहल, हड्डी एंव जोड़ दिवस पर सात हजार स्कूली बच्चों को करेंगे जागरूक

BIHAR NEWS: इंडियन आर्थोपेडिक असोशिएसन की अच्छी पहल, हड्डी एंव जोड़ दिवस पर सात हजार स्कूली बच्चों को करेंगे जागरूक

DARBHANGA: इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) हाल में डॉ एस.एन.सर्राफ की अध्यक्षता एवं डॉ मधुसूदन कुमार के नेतृत्व में एक प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया गया। इस प्रेस कांफ्रेंस में आगामी 4 अगस्त को होने वाले विश्व हड्डी एवं जोड़ दिवस मनाने की योजना के बारे में विस्तार से चर्चा की गयी। 

बिहार ऑर्थोपेडिक प्रेसिडेंट डॉक्टर एस.एन. सर्राफ ने बताया कि विगत 2012 से हर साल 04 अगस्त को यह दिवस राष्ट्रीय स्तर पर मनाया जाता है। यह कार्यक्रम 01 अगस्त से 07 अगस्त तक पूरे सप्ताह भर मनाया जाता है। इस बार इंडियन आर्थोपेडिक एसोसिएशन ने थीम के रूप में ‘खुद को बचाओ, दूसरों को भी बचाओ’ लक्ष्य निर्धारित किया है। जैसा की सर्वविदित है, ज्यादातर मौतें सड़क दुर्घटनाओं में होती है। 18 से 45 वर्ष के आयुवर्ग के युवा वयस्क, खास तौर पर पुरुष ज्यादातर सड़क दुर्घटनाओं के शिकार होते है, इनमे से अधिकांश मौतें दुर्घटना के बाद पहले सुनहरे घंटे में प्रार्थमिक चिकित्सा एवं उचित देखभाल न हो पाने के कारण होती है। जिससे हर साल तकरीबन पांच लाख आदमी का मौतें प्रार्थमिक चिकित्सा एवं उचित देखभाल न हो पाने के कारण हो जाती है। इसी आंकड़े को कम करने के लिए लोगों को जागरूक कर आंकड़े को कम किया जा सकता है।

वहीं डॉ अभिषेक सर्राफ बताया कि दुर्घटना के तुरंत बाद उचित प्रार्थमिक चिकित्सा प्रदान कर इन अनमोल जिंदगियों को बचाया जा सकता है। यह पुनीत कार्य किसी भी प्रशिक्षित आम आदमी या पुलिस कर्मी द्वारा किया जा सकता है। भारतीय हड्डी संघ ने 1 अगस्त से 7 अगस्त तक हड्डी एवं जोड़ सप्ताह मानते हुए 4 अगस्त 2021 को एक लाख छात्रों, पुलिस कर्मियों एवं आम आदमी को प्रशिक्षण प्रदान करने का फैसला किया है। साथ ही साथ इस प्रशिक्षण में इन्हें हड्डियों को स्वस्थ एवं मजबूत बनाये रखने के बारे में भी बताया जायेगा। हमारी योजना कक्षा नौवीं से कक्षा बारहवीं तक के छात्रों को जरूरतमंद एवं गंभीर व्यक्ती को बचाने के लिए बुनियादी जीवन रक्षक (CPR) के लिए प्रशिक्षित करना है। 

Find Us on Facebook

Trending News