BIHAR NEWS: अरेराज नगर पंचायत की काउंसिलिंग में चयनित 5 शिक्षकों का प्रमाणपत्र निकला फर्जी, ऐसा हुआ खुलासा

BIHAR NEWS: अरेराज नगर पंचायत की काउंसिलिंग में चयनित 5 शिक्षकों का प्रमाणपत्र निकला फर्जी, ऐसा हुआ खुलासा

MOTIHARI: मोतिहारी डीएम ने फर्जी प्रमाणपत्र पर काउंसिलिंग में चयनित शिक्षकों को लेकर की बड़ी कार्रवाई की। डीएम ने शिक्षक नियोजन में हो रही फर्जीवाड़ा को रोकने के लिए बड़ा कदम उठाया है। नियोजन में चयनित सभी शिक्षकों के प्रमाणपत्र के जांच टीम का गठन कर करवाई की जा रही है। जांच के प्रथम फेज में जिला के अरेराज अनुमंडल के चारो प्रखंड व नगर पंचायत नियोजन इकाई के चयनित 91 शिक्षकों की प्रमाणपत्र की जांच की गयी।

जांच में 8 शिक्षकों के टीईटी व सी-टेट के प्रमाणपत्र फर्जी निकले। सूत्रों के अनुसार अरेराज नगर पंचायत में चयनित 11 में 5 शिक्षकों का प्रमाणपत्र फर्जी निकलने से हड़कंप मच गया है। वहीं हरसिद्धि प्रखंड के 3 चयनित शिक्षकों का प्रमाणपत्र फर्जी निकला है। अरेराज नगर पंचायत व अनुमंडल के चारों प्रखंड नियोजन इकाई में चयनित शिक्षकों के प्रमाणपत्र फर्जी निकलने के बाद हड़कम मच गया। डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने सभी नियोजन इकाई के चयनित शिक्षकों के प्रमाणपत्र जांच के लिए अलग अलग टीम गठन किया है ।आज पूरे जिला के सभी इकाई के चयनित शिक्षकों की प्रमाणपत्र की जांच किया जाएगा ।प्रशासन फर्जीवाड़ा करने वाले सिंडिकेट व अभ्यर्थियों पर कार्रवाई में जुट गई है।

डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने फर्जी प्रमाणपत्र पर चयनित शिक्षकों व उसमें शामिल सिंडिकेट पर करवाई की तैयारी में जुट गए है ।डीईओ, अपर समाहर्ता, अरेराज एसडीओ, डीएसपी व डीसीएलआर के नेतृत्व में टीम का गठन कर अरेराज नगर पंचायत व अनुमंडल के चारों प्रखंड के नियोजन इकाई के चयनित 91 शिक्षकों का प्रमाणपत्र का जांच कराया गया ।जांच में 8 चयनित शिक्षकों का प्रमाणपत्र फर्जी निकला है ।जांच टीम संयुक्त संयक्त रूप से डीएम को जांच रिपोर्ट सुपुर्द किया गया ।फर्जीवाड़ा मिलने के बाद डीएम ने पूरे जिला के सभी नियोजन इकाइयों के चयनित शिक्षकों के प्रमाणपत्र जांच के लिए अलग अलग टीम का गठन कर जांच कराया जा रहा है ।जांच से फर्जीवाड़ा करने वाले अभ्यर्थी व सिंडिकेट में हड़कंप मच गया है ।वही प्रशासन करवाई की तैयारी में जुट गई है।


मोतिहारी में काउंसिलिंग में 899 अभ्यर्थियों का चयनित किये गए है। जिसमे वर्ग एक से 05 में 687 अभ्यर्थी,वर्ग छह से आठ में 212 अभ्यर्थियों का चयन किया गया था। डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने 91 में 8 शिक्षक अभ्यर्थियों के फर्जी प्रमाणपत्र मिलने को गंभीरता से लेते हुए सभी नियोजन इकाई की प्रमाणपत्र जांच के लिए अलग अलग टीम बनाया गया है ।नगर पंचायत व प्रखंड नियोजन इकाई की जांच अनुमंडल कार्यालय स्तर व पंचायत नियोजन इकाई का बीडीओ कार्यालय स्तर पर चयनित शिक्षकों की प्रमाणपत्रों की जांच किया जाएगा। डीपीओ स्थापना प्रफुल कुमार मिश्र ने बताया कि प्रमाणपत्र जांच को लेकर मंगलवार को डीएम की अध्यक्षता में की गई ।बैठक में लिए गए निर्देश के आलोक में सभी जांच टीम को प्रमाणपत्र के जांच के लिए लिंक भेज दिया जाएगा। बुधवार शाम तक सभी जांच टीम काउंसिलिंग में  चयनित शिक्षकों के प्रमाणपत्र की जांच कर बुधवार को डीईओ कार्यलय को रिपोर्ट देने का निर्देश दिया गया है। वही उन्होंने बताया कि अरेराज नगर पंचायत व चारो प्रखंड के काउंसिलिंग में चयनित शिक्षकों की प्रमाणपत्र की जांच किया गया । जिसमें 8 चयनित शिक्षकों का प्रमाणपत्र फर्जी मिला है।

Find Us on Facebook

Trending News