BIHAR NEWS: कभी मंत्रियों के निजी व विशेष सचिव रहे, अब खुद बनेंगे कैबिनेट मंत्री, ऐसी है जदयू के चाणक्य आरसीपी सिंह की कहानी

BIHAR NEWS: कभी मंत्रियों के निजी व विशेष सचिव रहे, अब खुद बनेंगे कैबिनेट मंत्री, ऐसी है जदयू के चाणक्य आरसीपी सिंह की कहानी

पटना: रामचंद्र प्रसाद सिंह या यू कहें प्रचलित नाम आरसीपी सिंह। भारतीय प्रशासनिक सेवा का ऐसा वरिष्ठ अधिकारी जिसे जदयू पार्टी संगठन में चाणक्य के नाम से जाना जाता है, अब केंद्रीय मंत्रिमंडल में मंत्री के रूप में शपथ लेंगे। दरअसल आरसीपी सिंह की पहचान एक ऐसा शख्स के रूप में होती है, जो लाइमलाइट में आये बिना अपना काम करने में यकीन करता है। दरअसल सीएम नीतीश कुमार के बाद उनके राजनीतिक उत्तराधिकारी के रूप में आरसीपी सिंह ही माने जाते हैं। इसका मुजाहरा तब हुआ था जब सीएम नीतीश कुमार ने दिसंबर 2020 में जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष की कमान आरसीपी को ही सौंपी थी। ज्ञात हो कि आरसीपी सिंह राज्यसभा में संसदीय दल के नेता भी हैं।


सीएम नीतीश करते हैं भरोसा

दरअसल भारतीय प्रशासनिक सेवा के 1984 बैच के उत्तर प्रदेश कैडर के अधिकारी रहे आरसीपी सिंह का सीएम नीतीश कुमार से गहरा संबंध है। प्रशासनिक अधिकारी से राजनेता बने आरसीपी सिंह नीतीश कुमार के संपर्क में पहली बार 1996 में आये थे। तब आरसीपी तत्कालीन केंद्रीय मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा के निजी सचिव के रूप में तैनात थे। नीतीश कुमार जब केंद्र में रेल मंत्री बने तब उन्होंने आरसीपी सिंह को अपना विशेष सचिव बनाया था। नवंबर 2005 में नीतीश कुमार जब बिहार के सीएम बने तो वो अपने साथ आरसीपी सिंह को भी बिहार लेकर चले आये और तब उन्हे प्रमुख सचिव की जिम्मेदारी दी गयी। उसके बाद से ही आरसीपी सिंह की जेडीयू में पकड़ मजबूत होने लगी। आरसीपी सिंह ने 2010 में वीआरएस लिया, जिसके बाद जेडीयू ने उन्हें राज्यसभा के लिए नामित किया तथा 2016 में पार्टी ने उन्हें फिर राज्यसभा भेजा।

दोनों का है एक ही गृह जिला

जानकारों की माने तो सीएम नीतीश कुमार और आरसीपी सिंह की दोस्ती इसलिए भी गहरी है क्योंकि दोनों की नालंदा जिले से आते हैं और दोनों की जाति भी एक ही है। जानकार यह भी कहते हैं कि एक नौकरशाह के तौर पर नीतीश कुमार आरसीपी सिंह की भूमिका से काफी प्रभावित थे। नीतीश कुमार जब केंद्र में मंत्री बने तो आरसीपी सिंह को अपने साथ ले आये। यह भी कहा जाता है कि सीएम नीतीश के चाहे निजी कार्य हो या फिर अहम राजनीतिक कार्य, इन सबमें आरसीपी की भूमिका अहम होती है। आरसीपी सिंह, नीतीश कुमार के अच्छे दोस्त ही नहीं हैं बल्कि, उनके बड़े सियासी सलाहकारों में भी हैं। 



Find Us on Facebook

Trending News