BIHAR NEWS: मुश्किल में फंस सकते हैं पप्पू यादव, लंबा होने वाला है बेल का इंतजार, बख्शने के मूड में नहीं है न्यायपालिका

BIHAR NEWS: मुश्किल में फंस सकते हैं पप्पू यादव, लंबा होने वाला है बेल का इंतजार, बख्शने के मूड में नहीं है न्यायपालिका

DARBHANGA: जाप सुप्रीमो पप्पू यादव के लिए जेल से बाहर निकलने का इंतजार और लंबा होने वाला है। फिलहाल 32 साल पुराने मामले में उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। इस मामले में न्यायालय की तरफ से भी उन्हें बेल नहीं मिली। इस संबंध में लगातार जाप कार्यकर्ताओं का आंदोलन जारी है। कार्यकर्ता पूरे बिहार में लगातार प्रदर्शन कर सुप्रीमो की रिहाई की मांग कर रहे हैं।

भले ही पप्पू यादव जेल की सलाखों के पीछे हो, मगर तबीयत बिगड़ने की वजह से फिलहाल वह कोर्ट के आदेश पर वह इलाज के लिए डीएमसीएच पुलिस की निगरानी में भर्ती हैं। वहीं जाप के कार्यकर्ताओं द्वारा पूरे प्रदेश में लगातार रिहाई को लेकर आंदोलन चला रहे हैं। इसी बीच कोर्ट ने पूर्व में चल रहे केस कांड संख्या 730/19 को खोल दिया है। पप्पू यादव से जुड़े पुराने केस को खोलकर कोर्ट ने यह जाहिर कर दिया है कि बेल के लिए इनके कार्यकर्ताओं को और इंतजार करना पड़ेगा। बता दें, बिहार में हो रहे लगातार बलात्कार के खिलाफ गर्दनीबाग थाना क्षेत्र में महिला नेत्री प्रभा राय और रामचंद्र यादव सहित सैकड़ों लोगों की उपस्थिति में एक आंदोलन किया गया था। जिसमें पप्पू यादव भी पहुंचे हुए थे। इसी कांड में 80 से 100  प्रदर्शनकारियों के खिलाफ केस दर्ज हुआ था, जिसमें कांड संख्या 730/19 में  147, 149 ,136, 350, धारा लगाए गये थे। 

ऐसे में अब सवाल यह उठाने लगा हैं हैं कि आखिर इनको जेल में रखने के पीछे क्या साजिश चल रही हैं। वही कार्यकर्ताओं की माने तो 1990 के बाद पप्पू यादव के खिलाफ कुल 30 मामले में केस दर्ज किए गए थे जिसमें 27 धरना प्रदर्शन और आचार संहिता के उल्लंघन में मामला दर्ज है। जिस तरह से जाप सुप्रीमो से जुड़े ज्यादातर पुराने मामले खोले जा रहे हैं, लगता तो यही है कि न्यायपालिका फिलहाल उन्हें राहत देने के मूड में नहीं है।

Find Us on Facebook

Trending News