राज्य की सीमा पर स्थित इस पंचायत में सपने की तरह है शुद्ध पानी, कागजों में फंसकर रह गई नल जल योजना

राज्य की सीमा पर स्थित इस पंचायत में सपने की तरह है शुद्ध पानी, कागजों में फंसकर रह गई नल जल योजना

KHAGDIA : जिले के सीमावर्ती इलाके में सात निश्चय योजना से बनी नलजल योजना में जमकर धांधली की गई।मालूम हो कि चौथम प्रखण्ड के खगड़िया व सहरसा क्षेत्र के लास्ट बोडर पर बसे बुच्चा पंचायत है।जो लास्ट बोडर पर बसे हुए है।बुच्चा पंचायत में टोटल 9 वार्ड है।जो कि एक से लेकर 9 वार्डो में नलजल का आधा अधूरा काम छोड़ संवेदक गायब हो गया है।कारण इस क्षेत्र के लोगो तक सरकार की ड्रीम प्रोजेक्ट फ्लॉप साबित होते दिख रहा है।जगह जगह नलजल का टंकी जहां लगाया गया भी है तो वहां स्तिथि ठीक नहीं है।

बता दें कि बुच्चा पंचायत में वार्ड नं 8 में जल मीनार भी लगाया गया है। जबकि वार्ड नं 7 में भी दो जल मीनार बनाना है तभी सभी घरों में नल का जल पहुंच पायेगा। वही बुच्चा पंचायत के वार्ड नं एक,दो और तीन, तीनों वार्ड में आधा घरो में नल का जल नही है कारण है कि पाइप भी नही बिछा हुआ है।जबकि वार्ड नं तीन में 200 घरो में नल का जल नही अधिकारी ट्रायल कर चालू कर देखने तक नही आते है। पंचायत में कहीं कहीं  छोड़ छोड़ टंकी लगाकर भाग गए है।

यह है पंचायत की हकीकत

बुच्चा पंचायत के वार्ड नं 7 में लालबाबू चौधरी घर के पास में पाइप फटकर पानी नीचे खेत मे जा रहा है। जबकि वहां जाने के बाद पता चला कि वहां उस पानी मे बच्चे नहाते हुए नजर आया।और उस जगह से आधा से ज्यादा लोगो को पानी नही जाता है। लालबाबू घर से पूरब 200 परिवार से ज्यादा लोगो को पानी नही जा रहा है लोगो ने बताया कि कई बार अधिकारी को इसकी जानकारी दी गई है लेकिन अधिकारी यह कहकर टाल देते है कि मिस्त्री को भेज रहे है।जबकि बता दे कि यहाँ पर डेढ़ महीने से टंकी का मेन पाइप फट गया है। बुच्चा पंचायत के वार्ड नं 6 में आधा 800 परिवार में से मात्र 400 परिवार को ही नल का जल बाकी 400 परिवार को नल का जल नही।

क्या कहते हैं बुच्चा पंचायत के वर्तमान मुखिया

भोला चौधरी ने कहा कि जलनल योजना के संवेदक जलनल से जुड़ी कोई जानकारी नही देते हैं कारण यह कि कही-कहीं छोड़ काम कर छोड़ भाग गए है। मुखिया ने बताया कि पंचायत में मात्र तीन वार्डो में ही गरबरी पाई गई है। जबकि सभी वार्डो में कुछ ना कुछ में गरबर घोटाला हुआ है। जबकि मुखिया से पूछा गया कि इसकी जानकारी के बारे में तो कहा कि हमको किसी तरह का कोई जानकारी नही देती है।

क्या कहते हैं पीएचईडी विभाग

चौथम पीएचडी विभाग के जेई अमित कुमार ने बताया कि गरबरी की जानकारी मिली है।वहाँ मिस्त्री को भेज कर ठीक कर दिया गया है।जहां पानी टंकी नही लगाया हुआ है वहाँ जल्द पानी टंकी व जलमीनार लगाया गया हैं।और बहुत जल्द सभी पंचायत के लोगो को नल का जल उपलब्ध करा दिया जायेगा।

Find Us on Facebook

Trending News